Navratri 2021: नवरात्रि में करें ये 5 उपाय… दूर होगी पैसों की तंगी

Share

नवरात्रि के व्रत शुरू हो चुके हैं. मां दुर्गा के विभिन्न स्वरूपों की ये नौ दिन पूजा अर्चना की जाती है. नवरात्रि में मां दुर्गा के स्तत्रों, मंत्रों और स्तुतियों का पाठ करते हैं. नवरात्रि के पूजा-पाठ और व्रत के कुछ नियम होते हैं. ये नौ दिन नियमों का पालन करना बहुत जरूरी होती है. मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति नवरात्रि के नौ दिन पूरे मन से मां दुर्गा की पूजा अर्चना करता है तो उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. और साथ ही कुछ ऐसे उपाय करने चाहिए जिससे माता रानी प्रसन्न होकर आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें. देवी मां को प्रसन्न करने के लिए नवरात्रि से पहले घर में इन 5 चीजों को लाएं और पूजा के दौरान देवी के चरणों में अर्पित करें.

1. सोने- चांदी के सिक्के

नवरात्रि में सोने- चांदी के सिक्के लाना बहुत शुभ होता है. मान्यता है कि सोने- चांदी के सिक्के लाने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है और माता लक्ष्मी का आशीर्वाद बना रहता है. इन सिक्कों पर गणेश और माता लक्ष्मी की तस्वीर बनी होनी चाहिए.

2. शंखपुष्पी के जड़

ज्योतिषियों के अनुसार, नवरात्रि के किसी भी दिन शंखपुष्पी की जड़ घर में लाकर चांदी के डब्बे में रखें और पूजन करने के बाद तिजोरी में रखें. ऐसा करने से घर में पैसों की तंगी नहीं रहेगी.

3. केले का पौधा

हिंदू धर्म में केले के पौधे का विशेष महत्व होता है. इसका इस्तेमाल पूजा पाठ में किया जाता है. नवरात्रि में केले का पौधा लगाना बहुत शुभ होता है. इस पौधे को आप किसी भी गमले में लगा सकते हैं. ज्योतिष के अनुसार, हर रोज पूजा करने के बाद इसमें जल चढ़ाएं और गुरुवार के दिन जल और दूध का मिश्रण चढ़ाना चाहिए.

4. मोर का पंख

मोर का पंख बहुत शुभ होता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मोर का पंख घर में रखने से कई लाभ होते हैं. इस विद्यार्थियों के कमरे में रखने से बच्चों को मां सरस्वती का आशीर्वाद मिलता है. लॉकर के पास मोर पंख रखने से आर्थिक स्थिति में सुधार होता है. इसके अलावा घर में मोर पंख रखने से वास्तु दोष दूर होता है.

5. बरगद के पत्ते

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए नवरात्रि में बरगद के पत्ते तोड़ कर लाएं और सिंदूर या रोली में स्वास्तिक का चिह्न बनाकर पूजा में अर्पित करें. ऐसे करने से माता लक्ष्मी का आशीर्वाद बना रहता है. साथ ही धन- धान्य से भर देती हैं.

1 2 3 157
Facebook Comments Box