मुंगेर मूर्ति विसर्जन गोलीकांड में महीनों से फरार पुलिस अधिकारी ब्रजेश सिंह की तलाश में जुटी CID

Share

मुंगेर मूर्ति विसर्जन गोलीकांड मामले में नामजद थानाध्यक्ष ब्रजेश कुमार सिंह सर्विस पिस्टल के साथ पिछले 6 माह से फरार हैं, इसकी जानकारी सीआईडी के एडीजी ने सुनवाई के दौरान कोर्ट को दी। बता दें 26 अक्टूबर 2020 को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन मेले के दौरान फायरिग में एक श्रद्धालु अनुराग कुमार की घटनास्थल पर मौत हो गई। वहीं, कई श्रद्धालु गोली लगने से जख्मी हो गए थे।

मृतक के पिता ने तत्कालीन वासुदेवपुर ओपी थानाध्यक्ष सुशील कुमार को इस हत्या का आरोपी बताया है। जिसके बाद हाई कोर्ट ने इस केस का जिम्मा सीआईडी को सौंप दिया था। वहीं, सीआईडी एसआईटी बनाकर जांच कर रही है। इस दौरान सीआईडी टीम ने पाया कि घटनास्थल दीनदयाल चौक से गांधी चौक के बीच तीन थानाध्यक्ष पूरबसराय ओपी, वासुदेवपुर ओपी एवं मुफिसल बाजार के थानाध्यक्ष अपने-अपने थाना क्षेत्र में दुर्गा प्रतिमा को विर्सजन कराने के लिए मुस्तैद थे। जिसमें दो थानेदार के द्वारा घटना को लेकर कोतवाली में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है। वहीं इस मामले की अगली सुनवाई 25 मई को निर्धारित की गई है। सिविल कोर्ट मुंगेर में अनुराग हत्या मामले को देख रहे अधिवक्ता ओम प्रकाश पोद्दार ने बताया कि ’19 मई को न्यायमूर्ति राजीव रंजन प्रसाद के एकल पीठ में सुनवाई हुई। जिसमें स‍ीआईडी के एडीजी विनय कुमार ने पीठ को बताया कि बीते कई माह से पुलिस पदाधिकारी ब्रजेश कुमार सिंह सर्विस पिस्टल के साथ फरार हैं और उसकी लोकेशन का पता नहीं चल रहा है। इसी वजह से ब्रजेश सिंह की पिस्टल को फोरेंसिक लैब में जांच के लिए नहीं भेजा जा सका है और जांच में विलंब हुआ है। एक सप्ताह के अंदर ब्रजेश सिंह के पास सीआईडी पहुंच जाएगी।’

1 2 3 73

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction