बिहारः सहरसा के सदर अस्पताल में डॉक्टर की जगह तांत्रिक कर रहें है इलाज…

Share

सहरसा के सदर अस्पताल में अजब ही नजारा देखने को मिल रहा है। अस्पताल में डॉक्टर के जगह महिला तांत्रिक मरीज को ठिक कर रही है। मामला सहरसा जिले का है जहां सांप काटने के बाद नरियार गांव के 30 वर्षीय युवक रंजीत यादव को सदर अस्पताल लाया गया। जब यहां स्थित बिगड़ने लगी तो परिजनों ने मैना माहपुरा से एक महिला तांत्रिक को बुलाकर झाड़-फूंक कराने लगे। इधर, अस्पताल में पहुंचने के बाद महिला तांत्रिक ने अपना काम शुरू कर दिया। कभी कुछ मंत्र पढ़ने लगी तो कभी नीम के पत्ते से युवक को झाड़ने लगी। अस्पताल में नियुक्त सुरक्षा गार्ड भी तांत्रिक के इलाज को देख रहे थे। घंटों यह तमाशा सदर अस्पताल परिसर में चलता रहा और अस्पताल प्रशासन मूकदर्शक बना रहा। सदर अस्पताल में नियुक्त कई कर्मी भी इस दौरान अस्पताल में मौजूद थे। लेकिन महिला तांत्रिक को कोई रोकने-टोकने वाला कहीं नजर नहीं आए। फिर महिला ने अपनी तंत्र विद्या की पूरी प्रकिया खत्म की।

पीड़ित के परिजन किरण देवी ने बताया कि दिन में रंजीत शौच के लिए खुले मैदान में गया था। बच्चों ने सूचना दी कि रंजीत वहीं गिरा पड़ा है। मुंह से झाग निकल रहा था। अस्पताल में भर्ती कराया। पानी चढ़ा लेकिन परिजन ने इसी दौरान तांत्रिक को ही बुलाकर झाड़-फूंक करवाया। झाड़-फूंक के बाद मरीज में कुछ असर दिखा है। इधर, इस मामले में जब सदर अस्पताल के प्रबंधक अमित कुमार चंचल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह मामला उनके संज्ञान में नहीं है। इसके बारे में जानकारी ली जाएगी। इसके बाद जो भी कार्रवाई होगी वह की जाएगी। कुछ लोगों ने कहा कि अक्सर ऐसा दृश्य सदर अस्पताल में दिख जाता है।