Bulli Bai app: मुस्लिम महिलाओं के अपमान की मास्टरमाइंड गिरफ्तार… सिख नामों से खोला था फर्जी एकाउंट

Share

 बुली बाई एप केस मामले में मुंबई पुलिस से आज एक और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. उसे कल बेंगलुरू से हिरासत में लिया गया था. 21 वर्षीय विशाल कुमार इंजीनियरिंग का छात्र है.

बुली बाई एप केस में पुलिस ने उत्तराखंड से एक महिला को भी गिरफ्तार किया है और दोनों से पूछताछ की जा रही है. उत्तराखंड से गिरफ्तार महिला और विशाल कुमार एक दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं. मुंबई पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी महिला ‘बुली बाई’ एप से जुड़े तीन अकाउंट हैंडल कर रही थी. वहीं सह आरोपी विशाल कुमार ने खालसा वर्चस्ववादी के नाम से खाता खोला था. 31 दिसंबर को उसने अन्य खातों के नाम बदलकर सिख नामों से मिलते-जुलते ही रखे और फर्जी खालसा खाताधारकों को दिखाया. गौरतलब है कि हाल के दिनों में बुली बाई एप तब चर्चा में आया जब एक महिला पत्रकार ने उसकी शिकायत करते हुए ट्‌वीट किया. अपनी शिकायत में महिला पत्रकार ने लिखा है कि मैं आज सुबह यह जानकर स्तब्ध रह गयी कि एक वेबसाइट जिसे Bullibai कहा जाता है. इसमें महिलाओं की तस्वीरों का गलत तरीके से प्रयोग किया है. महिला ने शिकायत की थी कि इस वेबसाइट के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाये. महिला का आरोप है कि यह कई महिला पत्रकारों को निशाना बनाये के लिए किया गया था. इस संबंध में आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि एप को ब्लॉक कर दिया गया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी और शशि थरूर ने भी ट्‌वीट कर इस घटना की निंदा की है और इसे महिलाओं का अपमान बताया था. बुली बाई एप पर टारगेट करके 100 से अधिक प्रभावशाली महिलाओं की तसवीर अपलोड की गयी और उन्हें अपमानित करने के लिए उनकी बोली लगायी गयी. पिछले साल ऐसा ही एक मामला सुल्ली डील्स पर पर सामने आया था. गौरतलब है कि दोनों विवादित वेबसाइट का डेवलपर एक ही है जिसका नाम गिटहब है.

1 2 3 179
Facebook Comments Box