चक्रवात ‘यास’ मचा सकता है भारी तबाही… ओडिशा और प. बंगाल में हाई अलर्ट …

Share

चक्रवाती तूफान ‘यास’ लगातार खतरनाक होता जा रहा है। चक्रवाती तूफान ‘यास’ को देखते हुए ओडिशा के चांदीपुर में ज़िला प्रशासन मरीन पुलिस के साथ मिलकर मछुआरों के गांवों को खाली करा रहा हैं और लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज रहे हैं। बीडीओ का कहना है कि हम सभी लोगों को दोपहर तक स्कूल और कॉलेज में बनाए गए अस्थायी आश्रय केंद्रों में शिफ्ट कर देंगे। वहां सभी के लिए खाने-पीने का इंतजाम किया गया है। वहां कोविड गाइडलाइन के हिसाब से व्यवस्था की गई है। लोगों से अपील है कि नजदीक के सुरक्षित घरों में पहुंच जाएं।

बता दें ओडिशा में चक्रवात यास की वजह से भुवनेश्वर में तेज बारिश शुरू हो गई है। डीजी एनडीआरएफ एस.एन. प्रधान के मुताबिक, चक्रवात यास के मद्देनज़र पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की 10 और टीमें तैनात की गईं। राज्य में कुल 45 टीमें तैनात हैं। पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी पर मंडरा रहा चक्रवाती तूफान सोमवार देर रात धीरे-धीरे बढ़ते हुए भीषण चक्रवाती तूफान में बदल गया है। माना जा रहा है कि अगले 12 घंटों में ये अति भीषण श्रेणी के तूफान में तब्दील हो जाएगा। वहीं, इसे देखते हुए केंद्रापड़ा, जगतसिंहपुर, बालासोर, भद्रक जैसे सबसे संवेदनशील जिलों के कलेक्टरों ने पहले ही संवेदनशील स्थानों पर रहने वाले लोगों को चक्रवात केंद्रों से दूर करने का प्रयास शुरू कर दिया है। एसआरसी का कहना है कि अब तक 15 हजार लोगों को निकाला जा चुका है और दोपहर तक यहां से लोगों को सुरक्षित दूसरी जगह पहुंचाने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

1 2 3 104