ताजमहल की सुन्दरता मे मंत्रमुग्ध डेनमार्क की प्रधानमंत्री एम फ्रेडरिक्सन ने भारत यात्रा को बताया सार्थक,

Share

नई दिल्ली: डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिक्सन अपने तीन दिवसीय दौरे पर भारत आई थी . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राष्ट्रपति भवन में उनका स्वागत किया. फ्रेडरिक्सन ने इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और पीएम मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता हुई
डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिक्सन की तीन दिवसीय भारत यात्रा का आज आखिरी दिन है वह शनिवार तड़के नई दिल्ली पहुंचीं थी इस मौके पर उन्होंने कहा कि ये यात्रा भारत के साथ डेनमार्क के रिश्तों में मजबूती लाने वाली साबित होगी.
.डेनमार्क की प्रधानमंत्री एम फ्रेडरिक्सन और उनके पति बो टेंगबर्ग ने रविवार की सुबह ताजमहल (Tajmahal) का दीदार किया और इसे बेहद खूबसूरत स्थान बताया. फ्रेडरिक्सन शनिवार की शाम साढ़े आठ बजे आगरा स्थित वायुसेना अड्डे पर पहुंचीं. उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) ने उनका स्वागत किया. इसके बाद डेनमार्क की प्रधानमंत्री वहां से रात्रि विश्राम के लिये होटल चली गयी.
रविवार की सुबह फ्रेडरिक्सन और उनके पति तथा एक शिष्टमंडल इको फ्रेंडली वाहन में ताजमहल पहुंचा, जहां उनका स्वागत ब्रज के स्थानीय कलाकारों ने किया. फ्रेडरिक्सन ने अपने पति के साथ ताजमहल के अंदर डेढ़ घंटा बिताया और परिचारक द्वारा बताए गए इस स्मारक के इतिहास में उन्होंने काफी दिलचस्पी दिखायी.ताजमहल को बताया बेहद सुंदर
विजिटर्स बुक में डेनमार्क के प्रधानमंत्री ने धन्यवाद व्यक्त किया और लिखा, ”यह स्थान बेहद सुंदर है.” ताजमहल का दीदार करने के बाद प्रधानमंत्री आगरा के किले भी गये. आगरा परिक्षेत्र के भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अनुसार, अतिविशिष्ट व्यक्ति के दौरे के कारण ताजमहल और आगरा के किले को दो घंटे के लिये बंद कर दिया गया था.

Facebook Comments Box