संयुक्त राष्ट्र के 76सत्र में भाग लेने पहुंचे जयशंकर, अफगानिस्तान और हिन्द प्रशांत मुद्दों पर की बात

Share

भारत : भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक उच्च स्तरीय 76वें सत्र से शिरकत कर वैश्विक समकक्षों के साथ द्विपक्षीय बैठकें कीं और इस दौरान अफगानिस्तान और हिंद-प्रशांत से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई।संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में भाग लेने के लिए सोमवार को यहां पहुंचे जयशंकर ने अपने दिन की शुरुआत फ्रांस के यूरोप तथा विदेश मामलों के मंत्री ज्यां-यवेस ले ड्रियन के साथ बैठक से की।

उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया, ”दिन की शुरुआत हमारे सामरिक साझेदार फ्रांस के साथ हुई। विदेश मंत्री ज्यां यवेस ड्रियन के साथ अफगानिस्तान, हिंद-प्रशांत तथा अन्य समसामयिक मुद्दों पर व्यापक चर्चा। भारत और फ्रांस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मजबूत भागीदार हैं।”इसके बाद उन्होंने ईरान के विदेश मंत्री एच अमीरअबदुल्लाहियान के साथ द्विपक्षीय बैठक की। उन्होंने ट्वीट किया, “ईरान के विदेश मंत्री एच अमीरअबदुल्लाहियान से फिर से मिलकर अच्छा लगा। द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने पर हमारी बातचीत जारी रही।”

जयशंकर ने यूएनजीए से इतर संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में मिस्र के विदेश मंत्री समेह शौकरी से मुलाकात की। उन्होंने कहा, “मिस्र के विदेश मंत्री समेह शौकी से मिलकर अच्छा लगा। हमारे द्विपक्षीय सहयोग को आगे बढ़ाने पर सहमति जतायी। जीईआरडी मुद्दे और अफगानिस्तान पर चर्चा की।” जयशंकर ने अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष मॉरिस पायने से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा, ”हमारे क्वाड पार्टनर ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मारिस पायने से मिला। उनके साथ हमारी पिछली बैठक की रणनीतिक बातचीत को आगे बढ़ाया। हिंद-प्रशांत में हाल के घटनाक्रम पर चर्चा हुई।”

1 2 3 150
Facebook Comments Box