ओलंपिक में भारत को पहला गोल्ड दिलाने वाले नीरज चोपड़ा को जानें…किसान का बेटा, 19 साल में आर्मी अफसर, 23 साल में ओलंपिक में गोल्ड..

Share

शुक्रावर को भारत की वो आस पूरी हो गई, जिसका पूरे देश को इंतजार था. ओलंपिक के भाला फेक (जेवलिन) प्रतियोगिता में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता है. इतिहास रचते हुए भारत को पहला गोल्ड दिलाया. गजब का प्रदर्शन करते हुए उन्होंने सभी खिलाड़ियों को पछाड़ दिया. अपने नाम रिकॉर्ड बनाते हुए उन्होंने सबसे दूर 87.58 मीटर दूर तक भाला फेंका.

सेना में नौकरी में मिलने के बाद उन्होंने एक बार कहा था – मेरे पिता एक किसान हैं और मां हाउसवाइफ हैं और मैं एक ज्वॉइंट फैमिली में रहता हूं. मेरे परिवार में किसी की सरकारी नौकरी नहीं है. इसलिए सब मेरे लिए खुश हैं….अब मैं अपनी ट्रेनिंग जारी रखने के साथ-साथ अपने परिवार की आर्थिक मदद भी कर सकता हूं.

24 दिसंबर 1997 में हरियाणा के खांद्रा गांव में जन्मे नीरज चोपड़ा किसान परिवार से आते हैं. परिवार में किसी की सरकारी नौकरी नहीं थी. बचपन में माटेपे के शिकार हुए, तो खेलना शुरू किया. फिर जेवलिन में अपनी किस्मत आजमाने लगे. 2012 में एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पहला गोल्ड मेडल जीता. 2016 में पोलैंड में हुए IAAF अंडर–20 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 86.48 मीटर दूर भाला फेंककर गोल्ड जीता था. इसके बाद उन्हें सेना में जूनियर कमिशन्ड ऑफिसर की नियुक्ति मिली थी.

1 2 3 116
Facebook Comments Box