स्मार्टफोन को करें वायरस मुक्त, हैकर्स की कर दे छुट्टी ,जानिए कैसे?

Share

आधुनिकीकरण और टेक्नोलॉजी ने हमारी जिंदगी को बहुत आसानी और सहुलतें मुहैया कराई हैं परंतु कभी-कभी पूरी जानकारी ना होने के कारण हम अक्सर दुर्घटनाओं से दो-चार हो जाते हैं और हमें इस बात की जानकारी भी नहीं होती कि हम अपनी नासमझी के कारण अपना नुकसान करा बैठे हैं, फोन हैकिंग और मोबाइल से निजी डेटा का चोरी होना एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है. हैकर्स वायरस के जरिए लोगों की निजी जानकारियां चुरा रहे हैं. इसके लिए हैकर्स किसी मोबाइल एप का सहारा लेते हैं और स्मार्टफोन में वायरस इंस्टॉल कर देते हैं. आज हम आपको बताने जा रहे हैं आप कैसे अपने स्मार्टफोन में वायरस की मौजूदगी का पता लगा सकते हैं और इससे कैसे बचा जा सकता है. जानते हैं: –

अगर साधारण तरीके से भी आपका स्मार्टफोन ज्यादा गर्म होने लगे तो समझ ले कि स्मार्टफोन में वायरस वाला एप है. फोन का डाटा जल्दी खत्म होना या फोन का बिल ज्यादा आना भी एक संकेत हो सकता है कि फोन का कंट्रोल हैकर्स के पास है. स्मार्टफोन में जरूरत से ज्यादा विज्ञापन के नोटिफिकेशन आना भी एक संकेत हो सकता है आपके डिवाइस में वायरस है. अगर आपके फोन से आपके कॉन्टैक्ट्स के पास स्पैम मैसेज जा रहे हैं. यह बेहद चिंता की बात है. इसका मतलब है कि हैकर्स इसके जरिए आपके फोन के साथ-साथ दूसरों के डिवाइस में भी वायरस इंस्टॉल कर देंगे.

इन टिप्स को करें फॉलो करके आप बहुत हद तक सुरक्षित रह सकते हैं । अगर आप चाहते हैं कि आपका फोन सुरक्षित रहे तो थर्ड पार्टी ऐप का इस्तेमाल बिल्कुल न करें. इन थर्ड-पार्टी ऐप में ऐसे लिंक होते हैं, जिनके जरिए हैकर्स आपकी निजी जानकारी चुरा सकते हैं. हैकर्स से बचने के लिए मजबूत पासवर्ड का इस्तेमाल करें. मजबूत पासवर्ड बनाने के लिए आप पासवर्ड मेकिंग ऐप का उपयोग कर सकते हैं. इसके अलावा आप Alphabets से लेकर नंबर तक को आपस में मिलाकर मजबूत पासवर्ड बना सकते हैं

1 2 3 157
Facebook Comments Box