मुख्यमंत्रियों की लोकप्रियता रेटिंग काफी घटी, बदल सकते हैं अभी और राज्यों के मुख्यमंत्री

Share

नई दिल्ली : पिछले कुछ दिनों में राजनीतिक सरगर्मी के चलते लगातार जिस तरह  भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी ने अपने अपने फेरबदल किया है तथा जिस तेजी मुख्यमंत्री बदले गये वो सोचने पर मजबूर करते हैं कि

देश के विभिन्न राज्यों में मुख्यमंत्रियों की लोकप्रियता रेटिंग काफी गिरी है पांच मुख्यमंत्रियों की लोकप्रियता में गिरावट दर्ज की गई है। आईएएनएस सीवोटर ट्रैकर में सामने आए आंकड़ों से पता चलता है कि हरियाणा राजस्थान के मुख्यमंत्री भी कई राज्यों की तरह ही बदले जा सकते हैं।भाजपा ने हाल ही में गुजरात, कर्नाटक उत्तराखंड में मुख्यमंत्री बदले हैं। उत्तराखंड के मामले में इस साल दो बार मुख्यमंत्री बदले गए। कांग्रेस ने भी हाल ही में पंजाब में अपने मुख्यमंत्री को हटाकर भगवा पार्टी का अनुसरण किया है।

तमिलनाडु पुडुचेरी के दो अन्य अलोकप्रिय मुख्यमंत्रियों को इस साल की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनावों के बाद बाहर कर दिया गया था।

सीवोटर इंटरनेशनल के संस्थापक-निदेशक यशवंत देशमुख ने कहा, आईएएनएस सीवोटर ट्रैकर की रेटिंग को बोर्ड भर में सही ठहराया गया है। तमिल पुडुचेरी के दो सीएम को लोगों ने अपनी वोटिंग से बाहर कर दिया है, वहीं बीजेपी के पास गुजरात, कर्नाटक उत्तराखंड में अपने सीएम को बदलने को समझदारी के तौर पर देखा जा रहा है। दूसरी ओर कांग्रेस ने भी पंजाब में बदलाव किया है।

देशमुख ने कहा, रडार पर हरियाणा राजस्थान के मुख्यमंत्री क्रमश: मनोहर लाल खट्टर अशोक गहलोत हैं, जिनकी रेटिंग (लोगों के बीच) लगातार खराब रही है।

इस साल की शुरुआत में, आईएएनएस सीवोटर ने दिखाया था कि सबसे कम लोकप्रिय 10 में से 7 मुख्यमंत्री भाजपा के थे।

उत्तराखंड की बात करें तो यहां पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त करने के बाद, आईएएनएस सीवोटर ट्रैकर से पता चलता है कि जुलाई में उनकी नियुक्ति के बाद, लोकप्रियता रेटिंग में सुधार हुआ है भाजपा के पास अब उत्तराखंड में त्रिकोणीय मुकाबले में अच्छी संभावनाएं हैं।

मार्च में भाजपा ने तीरथ सिंह रावत को सीएम बनाया था, लेकिन उनकी लोकप्रियता लगातार गिरती जा रही थी। इसलिए, एक पाठ्यक्रम सुधार प्रक्रिया में, भाजपा को दो मुख्यमंत्रियों को एक के बाद एक त्वरित क्रम में बदलना पड़ा।

कर्नाटक के मामले में जनता अभी तक नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को संदेह का लाभ दे रही है। वहीं अगर गुजरात की बात करें तो बीजेपी ने हाल ही में गुजरात में मुख्यमंत्री के रूप में भूपेंद्र पटेल को जिम्मेदारी दी विजय रूपाणी को हटा दिया गया। अप्रैल-मई में कोविड चरण के दौरान उनके खिलाफ काफी गुस्सा था। जून से रूपाणी के लिए हालात सुधरने लगे, क्योंकि भाजपा कार्यकर्ताओं ने शीर्ष नेतृत्व के दौरों से उत्साहित होकर उत्साह बढ़ाया था।

कांग्रेस के पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह लंबे समय तक सीएम के लिए पसंद के मामले में निचले तीन में शामिल रहे हैं। ट्रैकर के डेटा से पता चलता है कि उन्हें जाना था शायद कांग्रेस को ऐसा करने में बहुत अधिक समय लगा।

आंकड़ों के अनुसार, रडार पर अगले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर हो सकते हैं, क्योंकि राज्य में उनके प्रति लोगों की धारणा सही नहीं है वह उनसे संतुष्ट नहीं हैं। लोग उनके प्रति बिल्कुल संतुष्ट नहीं वाली श्रेणी में वोटिंग कर रहे हैं ऐसा लगातार होता जा रहा है।

इसी तरह के आंकड़ों से पता चलता है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी रडार पर हो सकते हैं।

1 2 3 150
Facebook Comments Box