सुप्रीम कोर्ट में CBSE और ICSE की 12वीं परीक्षा रद्द करने पर आज अहम सुनवाई

Share

सुप्रीम कोर्ट में 12वीं की परीक्षा रद्द करने की याचिका पर आज सुनवाई होगी। बता दें सुप्रीम कोर्ट में याचिका एडवोकेट ममता शर्मा ने फाइल की है। उन्होंने याचिका में परीक्षाओं को टालने की जगह सीधा रद्द करने और वैकल्पिक मूल्यांकन क्राइटीरिया के आधार पर 12वीं का परिणाम तैयार करने की मांग की है। इस याचिका पर जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस दिनेश माहेश्वरी सुनवाई करेंगे। वहीं, आज परीक्षा टालने को लेकर कांग्रेस का छात्र संगठन एनएसयूआई शिक्षा मंत्रालय के बाहर प्रदर्शन करेगा।

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया है कि वर्तमान स्थिति परीक्षा के आयोजन के हिसाब से सही नहीं है और अगर परीक्षा को टाला गया तो परिणाम देर से आएंगे। इसका असर छात्रों की आगे की पढ़ाई पर पड़ेगा। इसलिए परीक्षा रद्द कर देनी चाहिए। छात्रों को अंक देने का कोई तरीका निकालना चाहिए, जिससे जल्द से जल्द रिज़ल्ट घोषित हो सके। वहीं चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमना को 300 से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा के फिजिकल संचालन के प्रस्ताव को रद्द करने और पिछले साल की तरह एक वैकल्पिक मूल्यांकन योजना प्रदान करने के लिए एक पत्र लिखा है। हालांकि MoE के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि “अब तक मिले फीडबैक के आधार पर आम सहमति यह है कि परीक्षा आयोजित की जानी चाहिए। जैसा कि शिक्षा मंत्री ने कहा है, एक जून तक 12वीं की परीक्षा को लेकर अंतिम फैसले की घोषणा की जाएगी। दूसरी तरफ कांग्रेस का छात्र संगठन एनएसयूआई केंद्र सरकार से 12वीं की परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर शिक्षा मंत्रालय के बाहर प्रदर्शन करेगा। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच छात्रों के स्वास्थ्य से जुड़ी आशंका के कारण एनएसयूआई 12वीं की परीक्षा रद्द करने की मांग कर रही है।

You need to add a widget, row, or prebuilt layout before you’ll see anything here. 🙂