दिल्ली में लगा वीकेंड कर्फ्यू… मेट्रो और बसें पूरी कैपेसिटी से चलेंगी… पढ़िए पूरी गाइडलाइंस

Share

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले बेहताशा बढ़ने लगे हैं. ओमिक्रॉन के मामले भी यहां काफी ज्यादा है. इसे देखते हुए दिल्ली सरकार ने अब वीकेंड कफ्यू का ऐलान कर दिया है. राज्य में पहले से ही येलो अलर्ट जारी किया गया था, जिसके हिसाब से पाबंदियां लगाई गई थी. वहीं, मंगलवार यानी आज डीडीएमए की बैठक में दूसरी पाबंदियों पर भी चर्चा की गई. बैठक में कई फैसले लिए गए जिसमें सरकारी कार्यालयों को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने के निर्देश जारी किए गए. साथ ही आधे कर्मचारियों को घर वर्क फ्रॉम होम देने का फैसला लिया गया है. केवल अनिवार्य सेवाओं के लिए कार्यालयों को खुलने की इजाजत दी गई है. वहीं, निजी कार्यालयों में भी 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ खोलने की इजाजत दी गई है.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया  ने बताया कि मेट्रो स्टेशनों के बाहर और बस स्टॉप पर भीड़ को रोकने के लिए बसें और मेट्रो को उनकी बैठने की पूरी क्षमता के साथ फिर से चलाने का फैसला लिया गया है. DDMA की बैठक में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए वीकेंड कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है. अब दिल्ली में शनिवार और रविवार को कर्फ्यू लगाने का लगाया जाएगा. आवश्यक सेवाओं में लगे लोगों को छोड़कर सभी सरकारी अधिकारी घर से काम करेंगे. निजी दफ्तरों का 50 फीसदी वर्क फ्रॉम होम करेगा. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राज्य में संक्रमण की गंभीर स्थिति को समझाते हुए कहा कि ओमिक्रॉन के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. राज्य में पिछले केवल 8 से 10 दिनों में लगभग 11 हजार कोरोना संक्रमित मिले हैं. इनमें जिनमें से लगभग 350 मरीज अस्पताल में हैं और 124 मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है और 7 वेंटिलेटर पर हैं. आपको बता दें कि पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के कुल 4099 संक्रमित मिले हैं. वहीं, संक्रमण की दर 6.46 फीसदी दर्ज की गई है. पूरे देश में कोरोना के आंकड़ों में दिल्ली तीसरे नंबर पर है. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन बताया कि दिल्ली में संक्रमण की मुख्य वजह ओमिक्रॉन है. इसकी वजह से कोरोना के मामलों में उछाल देखा जा रहा है.

1 2 3 179
Facebook Comments Box