राज्य में 33 बच्चे मिले कोरोना संक्रमित… तीसरी लहर से बचाव की तैयारी जारी

Share

राज्य में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में 33 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जिसके बाद राज्य सरकार महामारी की तीसरी लहर और बच्चों को लेकर अलर्ट हो गई है। उन बच्चों की देखभाल के लिए भी राज्य में कदम उठाए जा रहे हैं, जिनके माता-पिता की इस महामारी के कारण मौत हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के विशेष कार्यपालक अधिकारी सिद्धार्थ त्रिपाठी ने कहा कि 25 मई से कराये जा रहे एक सघन जनस्वास्थ्य सर्वेक्षण एवं रैपिड परीक्षण में 31 मई तक कुल 1,64,46,947 लोगों का स्वास्थ्य सर्वे किया गया है। उन्होंने बताया ‘‘इस दौरान 33 बच्चे कोविड-19 से संक्रमित पाये गये हैं। इन बच्चों में किसी की भी हालत गंभीर नहीं है। ये बच्चे घरों में ही आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं।’’

बताया जा रहा है कि  इन 33 कोरोना संक्रमित बच्चों में से 25 बच्चे छह साल से 18 साल के बीच के हैं जबकि सात बच्चे एक साल से कम उम्र के हैं और एक बच्चे की उम्र छह साल से कम है। उन्होंने बताया ‘‘इन बच्चों के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है और अध्ययन किया जा रहा है ताकि बच्चों में महामारी के प्रभाव के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त की जा सके। विशेषज्ञों के अनुसार, यदि कोविड-19 की तीसरी लहर आयी तो उसका सर्वाधिक प्रभाव बच्चों पर पड़ने की आशंका है।’’ सिद्धार्थ त्रिपाठी ने यह भी बताया कि राज्य सरकार बड़े पैमाने पर टीकाकरण पर जोर दे रही है और उसे जुलाई से बड़ी संख्या में टीके भी मिलने लगेंगे। इसके अलावा, राज्य के सभी 24 जिलों में बच्चों के स्वास्थ्य और इलाज को लेकर विशेष तैयारी की जा रही है। उन्होंने बताया ‘‘इस उद्देश्य से सभी जिलों में छह-छह चिकित्सकों एवं उनके सहयोगियों की टीम बनाकर उन्हें विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से वहां के बाल चिकित्सालयों की संख्या तथा उनकी स्थिति तथा वहां उपलब्ध सुविधाओं की अपडेटेड रिपोर्ट तलब की गयी है।’’

1 2 3 74

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction