यूरेनियम तस्करी मामले में बोकारो पंहुची सेंट्रल आईबी और एटीएस की टीम…

Share

बोकारो में यूरेनियम बरामदगी के बाद शुक्रवार को सेंट्रल इंटेलीजेंस ब्यूरो और झारखण्ड़ एटीएस की टीम बोकारो पंहुची। बोकारो पुलिस के साथ टीम ने जरसीडीह, बालीडीह, चास और हरला में जाकर यूरेनियम बरामदगी से संबंधित जानकारी इकठ्ठा की। वहीं बरामद यूरेनियम की जांच भी किया गया। कहा जा रहा है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी इस केस को ले सकती है। यूरेनियम का मामला राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा है, ऐसे में इस बिंदु पर जांच जरूरी है।

बोकारो पुलिस ने इस मामले में पश्चिम बंगाल के पुरूलिया पुलिस और झारखंड के गिरीडीह पुलिस के साथ मिलकर फरार तस्करो की तलाश कर कर रही है। भारत सरकार की इंटेलिजेंस ब्यूरो इस बात की जांच कर रही है कि बरामद यूरेनियम का इंटरनेशनल कनेक्शन क्या है। बॉर्डर एरिया से हजारों मील दूर बोकारो को यूरेनियम का डंपिंग यार्ड क्यो बनाया गया। वहीं इस मामले में हरला पुलिस कोर्ट से बरामद पदार्थ के एक्सपर्ट से जांच की अनुमति मांगेगी। इस दिशा में हरला पुलिस कानूनी प्रक्रिया पूरी करने में जुटी हुई है। जांच के बाद यह पता चलेगा की बरामद पदार्थ यूरेनियम है या नही, अगर है तो उसकी तीव्रता कितनी है। अभी गिरफ्तार आरोपियों और प्रारंभिक जांच के आधार पर बरामद पदार्थ को रेडियो एक्टिव मेजेर मिनरल्स यूरेनियम माना जा रहा है। एक्सपर्ट की जांच के बाद ही इस बात पर तकनीकी तौर पर मुहर लग जायेगी। इस संबंध में पुलिस जल्द अदालत में अर्जी देगी।

1 2 3 109