बोकारो: पत्नी को इंसाफ दिलाने के लिए पति ने रात दिन एक किया… दो साल के संघर्ष के बाद अब विभाग ने दिया आदेश…

Share

बोकारो के दुग्दा के रहने वाले बबलू सिंह की पत्नी सोनी कुमारी की हुई मौत के मामले में स्वास्थ्य निदेशालय रांची के निदेशक प्रमुख द्वारा गठिता दो सदस्यीय टीम गुरुवार को धनबाद पहुंची। जांच टीम सर्वप्रथम सीएस कार्यालय में की गई। यहां सिविल सर्जन डॉ. गोपाल दास से पूरे मामले की जानकारी ली गई। जिसके बाद उप निदेशक डॉ. कृष्ण कुमार ने 10 दिनों के भीतर जांच प्रतिवेदन जांच टीम को सौपने का आदेश दिया। बता दें बबलू सिंह ने चक्रवर्ती नर्सिंग होम पर पत्नी के इलाज में लापरवाही से मौत होने का आरोप लगाया है।

जांच टीम में डॉ. कृष्ण कुमार उप निदेशक, डॉ. विजय बिहारी प्रसाद उप निदेशक शामिल रहे। जांच टीम के बुलावे पर शिकायतकर्ता सोनी कुमारी के पति बबलू सिंह भी उपस्थित थे। इस मामले में शिकायतकर्ता बबलू सिंह ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जांच टीम की कार्रवाई के बाद उन्हें इंसाफ मिलेगा। उन्होंने कहा कि दो साल पूर्व का यह मामला है। दो सालों से लगातार इंसाफ पाने के लिए विभाग-विभाग चक्कर लगा रहे थे। इस दौरान में केस उठाने की धमकी भी मिल चुकी थी। 7 जून 2019 को तबीयत बिगड़ने पर बबलू सिंह ने अपनी पत्नी को इलाज के लिए धनसार स्थित डॉ. चक्रवर्ती नर्सिंग होम में भर्ती कराया था। मरीज को भर्ती लेकर 11 जून तक इलाज किया गया। मरीज की स्थिति गंभीर होती चली गई। जिसके बाद बीजीएच रेफर किया गया। बीजीएच से फिर मेडिका रांची रेफर कर दिया गया। बबलू सिंह ने बताया कि मेडिका में जांच के बाद डॉक्टर ने कहा कि उनकी पत्नी के इलाज में लापरवाही बरती गई है और मरीज की कभी भी मृत्यु हो सकती है और 24 जून को पत्नी की मौत हो जाती है।

1 2 3 93