बोकारो में अपहरण कांड का खुलासा… मौसेरे भाई ने अपहरण की रची साजिश…

Share

बोकारो के जरीडीह के गायछंदा गांव के तिरो में अपहरण की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस को कुछ घंटे बाद ही सफलता मिल गई है। इस मामले में आनंद नामक युवक के अपहरण की सूचना पर पुलिस सक्रिय हुई थी, और इस मामले में ही आनंद नायक और उसके दोस्त विवेक गंजू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दरअसल छपरगढ़ा का रहने वाला आनंद नायक ने विवेक गंजू के साथ मिलकर अपनी मौसी के लड़के विवेकानंद के अपहरण की साजिश रची थी। दो लाख रुपये फिरौती वसूलने की साजिश इन दोनों को थी। अपहरण में असफल होने पर खुद के अगवा होने का आनंद ने नाटक किया। पुलिस जांच में जुटी तो इसका भेद खुल गया।

बताया जा रहा है कि विवेकानंद की बहन की शादी के लिए घरवालों ने पैसे इकट्ठा किये थे। इसकी जानकारी आनंद को हो गई और वह 6 जून को अपनी मौसी के घर पहुंचा और शाम को शौच के लिए अपने मौसेर भाई विवेकानंद के साथ जंगल की ओर गया। इस दौरान उसने चुपके से अपने दोस्त विवेक को भी वहां बुला लिया। और दोनों ने विवेकानंद के चेहरे पर कपड़ा डालकर उसका अपहरण करने की कोशिश की। लेकिन विवेकानंद किसी तरह से वहां से छूटकर घर की ओर भागा और घरवालों को अपहरण की सूचना दी। उसने घरवालों को बताया कि उसको और मौसेरे भाई आनंद को किसी ने अगवा करने की कोशिश की। लेकिन वह बचकर घर भाग आया, पर आनंद को बदमाश अपने साथ लेकर चले गये। विवेकानंद की इस सूचना पर गांववाले पूरी रात जंगल में आनंद की तलाश करते रहे, लेकिन वह मिला नहीं। दरअसल विवेकानंद के भागते ही आनंद अपने दोस्त के साथ मौके से फरार हो गया था। सुबह विवेकानंद के पिता ने जरीडीह थाने जाकर आनंद के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने छानबीन की तो मामला उल्टा निकला। पुलिस ने टीम बनाकर दोनों को अलग-अलग जगह से गिरफ्तार किया, और दोनों ने ही ने पूछताछ में अपना अपराध स्वीकार कर लिया। पुलिस ने आनंद और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

1 2 3 74

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction