पत्नी गई पति को जगाने.. दुकान के अदंर पड़ी थी दो लोगों की लाश

Share

बोकारो के चास मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बिजुलिया गांव के बाहर अपनी राशन दुकान में एक मजदूर के साथ सो रहे दुकान मालिक और मजदूर की धारदार हथियार से सिर कुचलकर हत्या  कर दी गई. घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. घटना की सूचना होने के बाद मौके पर पहुंची मुफस्सिल थाना पुलिस और चास सदर एसडीपीओ ने मामले की जांच शुरू कर दी है. प्रथम दृष्टया चोरी करने आए चोरों के द्वारा इस घटना को अंजाम दिए जाने की बात सामने आ रही है.

चास सदर एसडीपीओ पुरुषोत्तम सिंह ने बताया कि चोरी की घटना अंजाम देने के दौरान हत्याकांड को अंजाम दिया गया है. दुकान के गल्ले में रखे पैसे भी गायब हैं. पुलिस ने सभी बिंदुओं पर जांच पड़ताल शुरू कर दी है. फॉरेंसिक, टेक्निकल और स्वान दस्ता को बुलाकर मामले की जांच शुरू कर दी गई है. जानकारी के मुताबिक बिजोलिया गांव के रहने वाले 60 वर्षीय अरुण महथा गांव के बाहर राशन दुकान चलाते थे. दुकान के बगल में ही उनका खलिहान भी है. रात में प्रतिदिन की तरह ग्रामीण क्षेत्र में मजदूरी का काम करने वाले बेलूट निवासी फटिक धीवर भी सो रहा था, इसी दौरान देर रात चोरी की घटना को अंजाम देने आए अज्ञात चोरों ने बारी-बारी से तेज धार हथियार के साथ सर पर वार कर दोनों की हत्या कर दी. चोरों ने दुकान का ताला तोड़ा और अंदर रखे लगभग 4 हजार रुपए लेकर फरार हो गए. घटना की जानकारी ग्रामीणों को तब मिली जब अहले सुबह 7 बजे मृतक अरुण की पत्नी प्रतिदिन की भांति दुकान पहुंची. उसने देखा कि दोनों का शव बिछावन में खून से लथपथ पड़ा हुआ है. इसकी सूचना घरवालों को हुई और घर वालों ने मुफस्सिल थाना पुलिस को इस घटना की जानकारी दी. घटना की जानकारी मिलने के बाद चास एसडीपीओ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरू कर दी. घटनास्थल पर पहुंचे चंदनकियारी के भाजपा विधायक अमर कुमार बाउरी ने घटना को दुखद बताया है और इसे राज्य सरकार के कानून की विफलता बताई है. उन्होंने कहा कि जब तक अपराधी पकड़े नहीं जाते हैं तब तक जांच का कोई मतलब नहीं है. उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में भी इस तरह कि घटना घटी थी लेकिन आज तक उस घटना का उद्भेदन नहीं हो पाया.

1 2 3 179
Facebook Comments Box