झारखंड में इस विभाग में निकलेगी बंपर वैकेंसी… महिलाओं को मिलेगी प्राथमिकता

Share

झारखंड में एक बार फिर से युवाओं को रोजगार के नए मौके मिलनेवाले हैं। राज्य में मनरेगा के तहत करीब 1500 रिक्त पदों को भी जल्द ही भरने का निर्णय लिया गया है। अब लंबित योजनाओं को जल्द पूरा करने के साथ-साथ महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। राज्य में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को संभालने में मनरेगा की योजनाओं ने अहम भूमिका निभाई है। कोरोना काल में भी मनरेगा की योजनाओं से ग्रामीण अर्थव्यवस्था सुदृढ़ हुई है। यही वजह है कि झारखंड में रिकॉर्ड मानव दिवस का सृजन हुआ है।

मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने मंगलवार को बताया कि मनरेगा का उद्देश्य ग्रामीणों को उनके गांव-पंचायत में ही रोजगार उपलब्ध कराना है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन के लिए रिक्त पदों को भरना जरूरी है। उन्होंने बताया कि जल्द ही सभी रिक्त पदों को भर लिया जाएगा और हर गांव में मनरेगा के तहत कम से कम पांच योजनाएं चलाई जाएगी, ताकि ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन हो सके। झारखंड में मनरेगा की योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए विशेष कार्य पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता, कनीय अभियंता, रोजगार सेवक, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, सहायक वन संरक्षक, सहायक और कंप्यूटर प्रोग्रामर की अहम भूमिका होती है। इनके कई पद खाली है। जिसे बहुत जल्द भर लिया जाएगा।

1 2 3 157
Facebook Comments Box