टाटा के खिलाफ धरने पर अभ्यार्थी … प्रबंधन पर धांधली का आरोप…

Share

टाटा स्टील कंपनी ने अपरेंटिस एग्जाम ली उधर परीक्षा का परिणाम भी घोषित हो गया लेकिन परिणाम घोषित होते ही बवाल शुरू हो गया हैं।परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों ने कंपनी प्रबंधन पर धांधली का आरोप लगाया और कहा कि जिन बच्चों ने अच्छा एग्जाम दिया था उन बच्चों को फेल किया गया जिसके पास सेटिंग है या पैसा है उन लोगों को पास किया गया हैं।इसलिए अभ्यार्थी यह मांग कर रहे हैं की इनके रिजल्ट को सार्वजनिक किया जाए और जितने बच्चे शामिल हुए सभी का रिजल्ट सार्वजनिक हो ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके।

हालांकि अब इस मुद्दे को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई हैं।टाटा के इतिहास में पहली बार हुआ जहां अपरेंटिस एग्जाम के बाद इतना बड़ा धब्बा लगा है। अब सवाल यह उठता है कि टाटा कंपनी क्या इस दाग को धो पाएगी या नही ।हालांकि अभ्यार्थी लगातार एसएनटीआई के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं ।और धरना पर बैठे हैं और ओभी अपने न्याय की मांग को लेकर ।आपको याद दिला दें कि 250 सीट के लिए टाटा कंपनी ने एग्जाम लिया था जिसमें 10000 से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल हुए और 1000 अभ्यार्थी पास भी हो गए। ऐसे में अभ्यार्थियों ने जो आरोप लगाया है यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा लेकिन इतना जरूर है कि अभ्यार्थी नाराज है।

1 2 3 150
Facebook Comments Box