चतरा में पुल बन गया होता तो नहीं फसती बीच नदी में BDO की गाड़ी… अब तस्वीरें देखिए

Share

चतरा में लोगों की परेशानी को समझने और योजना निरीक्षण के लिए जा रही पत्थलगडा बीडीओ की गाड़ी नदी में फंस गयी। योजना निरीक्षण के लिए नोनगांव पंचायत जा रही पत्थलगडा बीडीओ मोनी कुमारी की गाड़ी शनिवार को ढाब नदी में फंस गयी। ढाब नदी पर पुल नहीं होने की वजह से ड्राइवर ने गाड़ी को नदी से होकर निकालना चाहा. पर गाड़ी नदी की धार में फंस गयी। काफी मशक्कत के बाद गांव वालो और ट्रैक्टर के मदद से गाड़ी को नदी से बाहर निकाला गया। पत्थलगडा में पुल बनाने के लिए ग्रामीण वर्षों से मांग करते आ रहे हैं।

बता दें ड्राइवर द्वारा काफी मशक्कत के बाद भी जब गाड़ी नदी से बाहर नहीं निकली तो BDO को पैदल ही नदी पार कर निरीक्षण स्थल तक पहुंचना पड़ा। वहीं, ग्रामीणों की और ट्रैक्टर के मदद से गाड़ी को नदी से बाहर निकाला गया। तूफान यास के प्रभाव से हुई बारिश के कारण पत्थलगडा की नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। ऐसे में लोगों को नदी पार करने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। नोनगांव मुखिया सतीश कुमार और आसपास के ग्रामीणों के सहयोग से काफी मशक्कत के बाद गाड़ी को नदी से बाहर निकाला जा सका। बताते चलें कि दो दिन पहले भी भुराही नदी में पानी आ जाने से पुलिस प्रशासन को काफी फजीहत उठाना पड़ी थी। हत्या के बाद शव को उठाने के लिए पुलिस को 4 किमी जाने के लिए 100 किमी सिमरिया के रास्ते सीनपुर गांव जाना पड़ा था।

1 2 3 104