चतरा में सीआरपीएफ जवान ने छुट्टी से लौटने के बाद साथी की हत्या कर खुद को किया शूट… जानें क्यों

Share

चतरा के सिमरिया में सीआरपीएफ के एक जवान ने साथी को गोली मारने के बाद खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली। सिमरिया के आईटीआई कॉलेज में बनाए गए कोविड-19 आइसोलेशन भवन में मंगलवार को सीआरपीएफ 190 बटालियन के एक जवान ने दूसरे को गोलीमारकर खुद को भी शूट कर लिया। इसमें दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि जवान हाल में ही छुट्टी से लौटने के बाद क्‍वारंटाइ्न में था। वहां घरेलू उलझनों के चलते वह लगातार तनाव में रह रहा था। इसी दौरान साथी से मामूली कहासुनी पर वह भड़क गया। गुस्‍से में बेकाबू संतरी कालू सिंह गुर्जर ने रसोइया रवींद्र कुमार को गोली मार दी। रवींद्र के जमीन पर गिरते ही कालू ने अपने को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली। हालांकि पुलिस मामले में हर संभावित पहलू की गहनता से जांच कर रही है।

बताया जा रहा है कि सिमरिया के आईटीआई कॉलेज के कोविड-19 आइसोलेशन सेंटर में दोपहर 12 बजे के आसपास हुई। इसी भवन में सीआरपीएफ 190 बटालियन का कैंप भी है। राजस्थान का रहने वाला  कालू सिंह गुर्जर घर से लौटने के बाद आइसोलेशन सेंटर में क्वारंटाइन किया गया था। कहा जा रहा है कि कालू घर से लौटने के बाद काफी तनाव में रहता था। इसे लेकर सीआरपीएफ के वरीय अधिकारी लगातार उसकी समस्याओं को दूर करने का प्रयास कर रहे थे। उसे स्पेशल ट्रीटमेंट भी दिया जा रहा था। एक दिन पहले उसकी हरियाणा के रहने वाले रसोईया रवींद्र से कहासुनी हुई थी। मंगलवार को दोनों में फिर तू तू-मैं मैं हुई। इसके बाद कालू ने एक साथी जवान की राइफल लेकर रवींद्र को गोली मार दी। बाद में उसने अपने को भी गोली से उड़ा लिया। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने कालू को मृत घोषित कर दिया जबकि रवींद्र ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। घटना की सूचना पाकर चतरा के एसपी ऋषभ झा और सीआरपीएफ के कमांडेंट पवन कुमार वासन मौके पर पहुंचे। एसपी ने बताया कि एक जवान पारिवारिक उलझनों के कारण तनाव में था। उन्होंने कहा कि मामूली विवाद में यह घटना हुई है।

1 2 3 116
Facebook Comments Box