देवघर: 10 लाख कीमत का बिजली तार पकड़ा गया… बिजली तार की चोरी करने वाले 8 गिरफ्तार… सरगना की तलाश

Share

कुछ लोगों को शहर या गांव के घरों में बिजली पहुंचे या नहीं पहुंचे, कोई फर्क नहीं पड़ता है. ये लोग बिजली की तारों की चोरी कर इलाके को अंधरे में डालने की बड़ी साजिश रचते रहते हैं. आपको याद दिला दें कि जब बिहार-झारखंड के कई गांवों में पहली बार बिजली के तार पहुंचे तो लोग इन तारों की चोरी कर इससे अपने बर्तन बनाने थे. गांवों में बिजली के तारों की इतनी चोरी हुई थी कि दोबारा तार बिछने में कई साल लग गए. तबतक इन इलाकों के घर अंधेरे में रहे. रात में लालटेन और डिबरी जलाने की मजबूरी बनी रही

कुछ ऐसी ही शिकायत देवघर के सारठ थाना क्षेत्र के गांवों में मिल रही थी. गांव से बिजली के तार चोरी होने के बाद पुलिस ने छपेमारी का अभियान चलाया. शुक्रवार की शाम पहले दो आरोपी पकड़े गए. इन पकड़े गए दो आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने 6 और आरोपियों को गिरफ्तार किया. शुक्रवार देर रात्रि सारठ एसडीपीओ अमोद नारायण सिंह के नेतृत्व में गठित टीम में सारठ, पालोजोरी, खागा, पथरड्डा और सारवां थाने की पुलिस शामिल रही.

पुलिस टीम ने बलथरा और दुंदुवाडीह गांव में छापेमारी कर 6 लोगों को गिरफ्तार किया. पुलिस ने बलथरा गांव के पुरन भोक्ता के घर से करीब 10 लाख के बिजली तार समेत अन्य बिजली के उपकरण बरामद किए हैं. पुलिस ने दुंदुवाडीह गांव से ललन पंडित, अरबिन्द पंडित और सिधेश्वर पंडित को पकड़ा है. जबकि बलथरा गांव के पुरन भोक्ता और दिवाकर भोक्ता को भी गिरफ्तार किया गया है. हेठ बामनगामा से अनिल झा गिरफ्तार हुआ है. गिरफ्तार सभी आरोपी बिजली कम्पनियों में किसी ठीकेदार के अंदर काम करते हैं। अब पुलिस गिरोह के सरगना की तलाश कर रही है.

1 2 3 116
Facebook Comments Box