धनबाद शीला सिन्हा हत्याकांड का खुलासा… किरायेदार ही निकले हत्यारे

Share

धनबाद के शीला सिन्हा हत्याकांड में पुलिस ने महज़ 24 घंटों के भीतर केस को सुलझा लिया है। इस केस में पुलिस ने शीला सिन्हा की एक किरायेदार महिला, उसके पति के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया। शीला सिन्हा की हत्या जिस चाकू से किया गया था, वह भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। पुलिस ने हत्या के कारणों का खुलासा करते हुए कहा कि किराये को लेकर विवाद और प्रॉपर्टी पर कब्ज़ा करना था।

पुलिस ने बताया कि घटना को अंजाम देने के लिए आरोपी राजकुमार और उसकी पत्नी ने पूरी प्लानिंग की थी। सभी ने हाथ मे दस्ताने पहनकर कत्ल को अंजाम दिया था। पूछताछ के दौरान जहां राजकुमार बार-बार पुलिस से फिंगर प्रिंट का मिलान करने की बात कह रहा था। वहीं, दुसरा आरोपी रवि साहू ने ब्यान में दस्ताने पहनने की बात कही। पुलिस के जांच के दौरान मृतका की एक डायरी मिली, जिसमें मकान का भाड़ा देने वालों का हिसाब किताब लिखा था। इस डायरी से पता चला कि राजकुमार सिंह लगातार भाड़ा नहीं दे रहा था। कभी कभार कुछ रकम शीला सिन्हा को दे देता था। भाड़े को लेकर राजकुमार और उसकी पत्नी का शीला सिन्हा और भिलाई में रहने वाली उनकी बेटी से लगातार झगड़ा हो रहा था। राजकुमार सिंह ने यह प्लान बनाया कि शीला की हत्या के बाद उनकी प्रॉपर्टी पर कब्ज़ा कर लिया जाए क्योंकि शीला की बेटी, दामाद और बेटा सभी बाहर रहते हैं और यहां देखभाल करने वाला कोई नहीं। राजकुमार को भरोसा था कि वह इस प्रॉपर्टी का अंडरटेकर बन सकता था। पुलिस की मानें तो तीन दिन पहले सिन्हा के साथ राजकुमार और उसकी पत्नी का झगड़ा और गाली ग्लौज हुई थी।
j