धनबाद में 8वीं की छात्रा को 20 हजार में पिता और दादी ने बेचा, जबरन कराई शादी

Share

झरिया के जामाडोबा में इस बार तस्करी का एक नया मामला सामने आया है। इस शादी के नाम पर मानव तस्करी किया जा रहा था। यहां राजस्थान के एक 35 वर्षीय युवक ने 20 हजार रूपये देकर एक बच्ची को ख़रीदा और उससे शादी कर ली। खरीदार सुनील अग्रवाल किशोरी को अपने साथ राजस्थान ले जाना चाहता था। लेकिन मोहल्ले वालों ने 8वीं की छात्रा को राजस्थान ले जाने से बचा लिए। लोगों ने सक्रियता दिखाते हुए पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और सुनील अग्रवाल को हिरासत में ले लिया।

किशोरी और महिला दलाल को सीडब्ल्यूसी के सामने पेश किया गया। वहां किशोरी ने बताया की वह 14 साल की है। वह पढ़ाई करना चाहती है लेकिन उसके घरवाले जबरदस्ती उसकी शादी करा रहे हैं। वही सुनील अग्रवाल ने बताया कि उसने झरिया की ही एक महिला से 20 हजार रुपए में यह शादी तय की थी। एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें दिख रहा है कि किशोरी से जबरदस्ती रस्मे कराई जा रही हैं। उस वीडियो में किशोरी रो भी रही है। कहा जा रहा है कि किशोरी की मां नहीं है। यह सौदा किशोरी की दादी और पिता ने तय की थी। शादी के बदले परिजनों ने 20 हजार रुपए भी लिए। इस सौदे की जानकारी लड़की के दादा को नहीं थी। जब उनको पता चला तो उन्होनें विरोध भी किया। सीडब्ल्यूसी की सदस्य विद्योत्तमा बंसल और देवेंद्र शर्मा ने बताया कि झरिया पुलिस किशोरी को लेकर आई थी। फिलहाल सभी पहलुओं की जांच चल रही है। किसी को इस बात की भनक ना लगे कि लड़की को बेचा गया है इसलिए उसकी शादी दिखावे के लिए की जा रही थी।

1 2 3 116
Facebook Comments Box