नो डिमांड पर निकाह… डेढ़ साल बाद मिली बेटी की लाश…

Share

धनबाद में दहेज के लिए एक बार फिर से एक विवाहिता की जान ले ली गई है. बताया जा रहा है कि हत्या की इस घटना को फोर व्हीलर के लिए अंजाम दिया गया. बता दें धनबाद  के गोविंदपुर के जंगलपुर के रहने वाले मोहम्मद मोइन अंसारी ने अपनी बेटी मंजूम आरा की शादी डेढ़ वर्ष पूर्व मुनीडीह थाना क्षेत्र के मोहम्मद रियाजुद्दीन अंसारी से बिना दान दहेज के ही की थी. शादी के दौरान लड़के वालों ने नो डिमांड कह कर शादी का प्रस्ताव दिया था लेकिन  शादी के दिन ही लड़का फोर व्हीलर के रूप में अल्टो कार की मांग करने लगा. उसके बाद से ही अनबन शुरू हो गई.

कहा जा रहा है कि लड़की के विदा होने के बाद आज तक उसे अपने मायके नहीं आने दिया गया था. इस दौरान परिवार वालों को लगातार फोर व्हीलर की डिमांड मिलने लगी और मृतका को प्रताड़ित किया जाने लगा. मृतका के परिजनों ने इस मामले में धनबाद के एसएसपी से लेकर थाने तक गुहार लगाई लेकिन सभी ने परिवार वालों को ही दोषी बना दिया. 27 दिसंबर को फिर से बेटी को प्रताड़ित कर मारपीट किए जाने की जानकारी परिजनों को मिली, उसके बाद लोग धनबाद के सिटी एसपी के पास पहुंचे लेकिन सिटी एसपी ने भी परिवार वालों को दोषी ठहरा दिया. इसी दौरान ससुराल वालों ने मृतका को गंभीर अवस्था में बोकारो जनरल अस्पताल में भर्ती करा दिया. जब मृतका की मौत अस्पताल में हो गई तो वो लोग वहां से छोड़कर भाग गए और मृतका के सास ने उसके पिता को फोन पर अस्पताल में भर्ती होने की सूचना दी. जब पूरा परिवार यहां पहुंचा तो बेटी को मृत पाया और उसके मुंह और जबड़े पूरी तरह से टूटे हुए थे. मृतका के शरीर पर कई चोट के निशान थे. बेटी की मौत के बाद पिता ने बताया कि जब भी अपनी बेटी को लेने के लिए वहां जाते थे तो पूरा परिवार मारपीट पर उतारू हो जाता था. पीड़ित पिता धनबाद पुलिस के व्यवहार से खफा नजर आ रहे हैं. सेक्टर 4 थाना प्रभारी विनोद गुप्ता ने मौत को संदेहास्पद बताया है. उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से तस्वीर परिजनों ने दिखाई है उसमें मामला पूरी तरह से संदेहास्पद लग रहा है. पोस्टमार्टम कराने के लिए शव को भेजा जा रहा है और पीड़ित पक्ष से फर्द बयान लिया जा रहा है। मामले को संबंधित थाने रेफर कर दिया जाएगा.

1 2 3 179
Facebook Comments Box