धनबाद: पैसा डबल मामले में कोलकाता से तीसरी गिरफ्तारी…लगा चुके हैं लोगों को 10 करोड़ का चुना

Share

धनबाद:  मैथन थाना पुलिस ने पैसा डबल के नाम पर करोड़ों की ठगी करने के आरोप में एक महिला को गिरफ्तार किया है. महिला की गिरफ्तारी कोलकाता से की गई है. गिरफ्तार महिला का नाम कुकन्या घोषाल है, जो चिटफंड कंपनी एंजेल ब्रोकिंग में काम करती थी. एंजेल ब्रोकिंग नाम से बनी चिटफंड कंपनी को मैथन मेन गेट के पास खोला गया था. इसी चिटफंट कंपनी एंजेल ब्रोकिंग के जरिए लोगों का पैसा दोगुना करने का लालच देकर करोड़ों की ठगी की गई. इससे पहले इसी मामल में पुलिस ने दो और आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था. इस मामले में ये तीसरी और अहम गिरफ्तारी है.

चिटफंड कंपनी एंजेल ब्रोकिंग पर आरोप है कि इनमें काम करने वाले लोगों ने मैथन, चिरकुंडा, मुगमा और आसपास के करीब 200 लोगों से 10 करोड़ रुपये की ठगी की. कंपनी ने पैसा डबल करने के नाम पर लोगों से पैसे लिए, लेकिन उनका पैसा नहीं लौटाया. चिटफंड कंपनी पर बंगाल में भी कई लोगों से ठगी का आरोप है. कंपनी ने लोगों को झांसे में लेने के लिए पहले कुछ लोगों का पैसा डबल भी किया. कई लोगों को विदेश टूर के नाम पर नेपाल भी भेजा गया. जब आसपास के लोगों को भरोसा हुआ तो कुछ और लोगों ने इस कंपनी में पैसे इनवेस्ट किए. इसके बाद कंपनी के लोग अप्रैल 2020 में लोगों का पैसा लेकर फरार हो गए.

मैथन प्रोफेसर कॉलोनी के रहने वाले सतीश सिन्हा ने इस मामले में 9 अगस्त 2020 में मामला दर्ज कराया था. तब मैथन ओपी में 9 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ था. केस दर्ज होने के बाद निरसा के तत्कालीन SDPO विजय कुमार कुशवाहा के नेतृत्व में मिहिजाद थाना इलाके के पिपरा गांव से 2 नामजद सुनीता दास उर्फ रिम्पा और शैलेन दास को गिरफ्तार किया गया था. तीसरी गिरफ्तारी बंगाल के पुलिस के सहयोग से कोलकाता के बासदोनी थाना क्षेत्र के बहमनपुर गांव से सुकन्या घोषाल नाम की महिला की हुई थी. जिन 9 लोगों पर केस दर्ज हैं उनमें पश्चिम बंगाल के आसनसोल के रहने वाला प्रशांत दास, श्रीकांत दास, झरना दास, अपर्णा दास, सुनीता दास, शैलेन दास, इंद्रा दास, आदित्य दास और सुकन्या घोषाल है.

1 2 3 116
Facebook Comments Box