झारखंड में तीसरी लहर की तैयारी: बच्चों की बनी 3 कैटेगरी… प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टर दे रहे हैं ट्रेनिंग

Share

दूसरी लहर का संकट देख, सरकार ने तीसरी लहर के लिए तैयारी शुरू कर दी है। झारखंड के हर जिसे के डॉक्टर्स, नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को इलाज और बच्चों की देखरेख की ट्रेनिंग दी जा रही है। ट्रेनिंग राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स के डॉक्टर दे रहे हैं। सभी जिलों के स्वास्थ्य कर्मियों की ट्रेनिंग देने के लिए प्राइवेट अस्पताल रानी चिल्ड्रन अस्पताल के डॉक्टर्स को भी लगाया गया है। अभी डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों की मौखिक ट्रेनिंग हो रही है। इसके बाद प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी होगी। इसके लिए 14 से 19 जून तक बोकारो, खूंटी, रामगढ़ और लोहरदगा के कुछ डॉक्टरों को रांची बुलाकर ट्रेनिंग दी जाएगी।

जिन जिला अस्पताल में बच्चों के डॉक्टर हैं, वहां बच्चों के लिए ICU बनाया जा रहा है। रांची के रिम्स अस्पताल में भी बच्चों के लिए 100 बेड का वॉर्ड तैयार किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों में बच्चों के इलाज के लिए 3 श्रेणी बनाई है। पहला- 2 साल तक के बच्चों के लिए। दूसरी- 2 से 10 साल तक के बच्चों के लिए। तीसरी 10 से 18 साल के लिए।

1 2 3 93