लॉकडाउन में स्कूल बंद होने पर शिक्षक ने किया ऐसा काम… पुलिस ने किया खुलासा…

Share

दुमका प्रखंड क्षेत्र के हरणाकुंडी मुहल्ले के एक मकान से मुफस्सिल थाना की पुलिस ने छापेमारी कर 25 बोरा प्रतिबंधित कफ सिरप बरामद किया है। कफ सिरप के साथ पुलिस ने कई दवाईयों से भरी पेटी को भी जब्त किया है। यह कार्रवाई एसडीपीओ नूर मुस्ताफा के नेतृत्व में मुफस्सिल थाना प्रभारी एवं पुलिस बल ने की। इस मामले में गृहस्वामी राजेश राय को गिरफ्तार किया गया है। राजेश राय एक नीजी स्कूल का शिक्षक है जो लॉकडाउन की वजह से बंद हो गया है।

प्रतिबंधित कफ सिरप एवं दवाईयों को जब्त कर मुफस्सिल थाना में रखा गया है। देर शाम तक कफ सिरप की शीशी एवं दवाईयों की पेटी की गिनती नहीं की गई थी और न ही एफआईआर दर्ज की गई थी। जब्त कफ सिरप का मूल्य करीब 3 लाख रुपए आकी जा रही है। एसडीपीओ ने बताया कि ड्रग इंस्पेक्टर को बुलाया जाएगा। ड्रग इंस्पेक्टर के आने के बाद ही यह पता चल पाएगा कि जब्त प्रतिबंधित कफ सिरप व दवाईयां कितने की है। बताया जाता है कि हरणाकुंडी मुहल्ले के राजेश राय नाम के व्यक्ति के घर में कफ सिरप अवैध रुप से रखने जाने की सूचना काफी दिनों से मिल रही थी। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी की गई और भारी मात्रा में चार तरह के कफ सिरप व दवाईयां बरामद की गई। बरामद कफ सिरप में कई पेटी की सिरप एक्सपायर हो चुकी है। दुमका के हरणाकुंडी मुहल्ले के एक मकान से भारी मात्रा में कफ सिरप बरामद की गई है। बरामद कफ सिरप की जांच पड़ताल की जा रही है। इस मामले में गृहस्वामी को गिरफ्तार किया गया है। उससे पूछताछ की जाएगी। पूछताछ के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।- नूर मुस्तफा,एसडीपीओ,दुमका। पुलिस के मुताबिक जब्त प्रतिबंधित कफ सिरप अलग अलग कंपनी की है, जो नशे के रूप में प्रयोग किया जाता है। कफ सिरप के अलावे भारी मात्रा में अल्प्राजोलम टेबलेट, एसकॉफ सिरफ, ऑनरेक्स एवं कॉडेटेक्स कफ सिरप शामिल है। आरोपी की पत्नी का कहना है कि दुमका शहर के थाना रोड के एक दवाई व्यवसायी सूरज कुमार ने उनके आवास में दवाईयों को रखा था। दवाई रखने के एवज में उन्हें प्रतिमाह शुल्क भी दिया जाता था। कुछ रुपए की लालच में ही उसने दवाईयों को अपने घर में रखने दिया था। उसे यह पता नहीं था कि इन बोरियों में प्रतिबंधित कफ सिरप है। गिरफ्तार राजेश राय एक निजी स्कूल में शारीरिक शिक्षक है। लॉकडाउन के कारण दुमका की सभी स्कूल बंद है। स्कूल बंद होने के कारण उनके घर की आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी। पैसे के अभाव में ही उसने घर में दवाई रखने दिया था। इसके एवज में उन्हें कुछ रुपए मिल जाया करता था। बता दें कि इससे पहले भी नगर थाना की पुलिस ने एक ट्रांसपोर्ट से भारी मात्रा में कफ सिरप को बरामद किया था। इस मामले में कई अवैध कारोबारियों की गिरफ्तारी भी हुई थी। कई आरोपी अभी भी फरार चल रहे है।

1 2 3 179
Facebook Comments Box