जिस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में होना था इलाज…वहां मिलने लगे शराबी

Share

दुमका जिला से करीब 40 किलोमीटर दूरी स्थित है रामगढ़ प्रखंड । इस प्रखंड के सिंदुरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरकार द्वारा लोगों के इलाज के लिए बनाया गया है। लेकिन सुविधाओं के अभाव में यह स्वास्थ्य केंद्र शराबियों और जुआरियों का अड्डा बना हुआ है। मुख्य मार्ग से आने के लिए सड़क तक स्वास्थ्य केंद्र के नसीब में नहीं है। वही स्वास्थ्य केंद्र भवन में कर्मचारी और डॉक्टरों को रहने के लिए भवन तो बना दिए गए हैं। लेकिन सरकारी बाबुओं के कारण यह खंडहर में तप दिल होने को मजबूर हैं।

स्वास्थ्य केंद्र के अंदर खिड़की- दरवाजा हो या फिर बाथरूम के लगे सामान सभी को अस्त व्यस्त कर दिया गया है। लोगों का कहना है कि आज तक यह पता नहीं चला कि यह बना कब था ओर हम लोग उपयोग कब करेंगे। बीमार होने पर हम लोगों को दुमका या रामगढ़ की ओर जाकर इलाज कराना होता है अस्पताल हो जाने से कहीं ना कहीं हम लोग को सुविधा होगी। स्वास्थ्य केंद्र को ना तो स्वास्थ्य विभाग ने कभी ठीक कराने की जहमत उठाई है और ना ही मुखिया द्वारा कोई पहल की गई है ऐसे में शाम ढलते ही यहां पर असामाजिक तत्वों का अड्डा बन जाता है और इससे गांव का माहौल भी खराब हो रहा है

1 2 3 116
Facebook Comments Box