आशिक मिजाज पेशेंट से अस्पताल ही हो गया बीमार… परेशान हुई नर्स…

Share

दुमका मेडिकल कालेज अस्पताल में  भर्ती एक शख्स को अस्पताल में आशिकी करना महंगा प़ड़ गया है। एक हादसे में जख्मी हुए जरमुंडी के लल्ला दास मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां अन्य मरीजों के साथ रहने वाली महिला और नर्स के साथ लल्ला दास छेडख़ानी करने लगा। छुटटी मिलने के बाद भी एक सप्ताह से डटे  लल्ला दास को अस्पताल प्रबंधन ने बाहर का रास्ता दिखा दिया। उसकी हरकत से सर्जरी वार्ड की सभी महिलाएं परेशान थीं। इस मामले की दुमका में खूब चर्चा हो रही है।

बता दें 23 सितंबर को एक हादसे में पैर फैक्चर होने की वजह से लल्ला दास को भर्ती कराया गया था। काफी सुधार के बाद अस्पताल प्रबंधन ने छह अक्टूबर को उसे छुटटी दे दी लेकिन युवक घर जाने की बजाए बेड पर डटा रहा। एक सप्ताह से वह वार्ड में भर्ती मरीजों के साथ रहने वाली महिलाओं को परेशान कर रहा था। कभी किसी युवती का जबरन हाथ पकड़ लेता और कभी उनके पास जाकर बैठ जाता। यहां तक वार्ड में मरीजों की सेवा करने वाली नर्स के साथ छेडख़ानी करने की कोशिश करता। तीन दिन पहले उसे गंदी हरकत की वजह से डांटा गया था लेकिन उसकी आदत नहीं सुधरी। बुधवार को फिर नर्स से छेडख़ानी की सूचना मिलने पर कर्मचारी भड़क गए और पिटाई करने की बजाए जबरन घर भेजने के लिए मुख्य द्वार से बाहर कर दिया। अधीक्षक डा. रवींद्र कुमार का कहना है कि युवक की गंदी हरकत की वजह से उसे अस्पताल से बाहर कर दिया गया है। मरीज होने के नाते किसी तरह की कार्रवाई नहीं की।

1 2 3 160
Facebook Comments Box