गढ़वा में चाचा ने भतीजी से किया दुष्कर्म… पंचायत बैठाकर मामला दबाने की कोशिश

Share

गढ़वा से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। नाबालिग लड़की से हुए दुष्कर्म के कथित आरोपित और उसके पक्ष के लोगों द्वारा पंचायती कराकर दबाने का मामला प्रकाश में आया है। इसके वजह से 14 वर्षीया नाबालीग लड़की का समुचित इलाज भी नहीं हो सका है। बताया जा रहा है गढ़वा में एक चाचा ने अपनी भतीजी से शारीरिक संबंध बनाया और उसके बाद मामला खुलने पर गांव में पंचायती कर इस बात को दबाने की कोशिश की गई।

इसकी सूचना मिलने पर जिला बाल कल्याण समिति गढ़वा ने मामले में संज्ञान लेते हुए कार्रवाई प्रारंभ की है। कहा जा रहा है कि पीड़िता नाबालिग लड़की पलामू जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के बोंड़ी गांव की रहनेवाली है। उसके पिता की मौत हो चुकी है। पीड़िता की मां अपने घर में नहीं थी। नाबालिग लड़की को घर में अकेली पाकर उसके रिश्ते में चाचा मनसूफ अंसारी ने शुक्रवार की शाम को दुष्कर्म किया था। शनिवार की सुबह जब पीड़िता को लेकर उसकी मां गांव के निकट के रंका सीएचसी में पहुंची थी। रंका सीएचसी के चिकित्सक ने गाइनो चिकित्सक से दिखाने की बात कहकर सदर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। इसके बाद आरोपित मनसूफ अंसारी और उसके पक्ष के लोग मां बेटी को बिना इलाज कराए ही गांव वापस ले गए। वहां पंचायती कराकर दुष्कर्म के मामले को थाना में दर्ज नहीं कराने को कहा गया। साथ ही पीड़िता नाबालिग का इलाज ग्रामीण चिकित्सक से कराया गया। इधर, इस संबंध में जिला बाल कल्याण समिति के चेयरपर्सन उपेंद्रनाथ दूबे ने बताया कि इस मामले में जेजे एक्ट 2015 झारखंड नियम 2017 एवं पोक्सो एक्ट 2012 एवं 2020 के तहत न्याय दिलाने के लिए संज्ञान लेते हुए गढ़वा और पलामू के डीसीपीओ व डीएसडब्ल्यूओ तथा चैनपुर, पलामू और रंका के थाना प्रभारी को कार्रवाई के लिए निर्देश दिया गया है।

1 2 3 71

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction