दिव्यांग युवक ने पत्नी और बेटी की हत्या… पुलिस ने पकड़ा तो ट्रक के आगे कूदकर दी जान

Share

गिरिडीह में एक दिव्यांग युवक ने अपनी पत्नी और बेटी की हत्या कर दी. इस मामले में जब पुलिस ने युवक को गिरफ्तार किया तो उसने ट्रक के सामने कूदकर जान दे दी. उस दौरान युवक के परिजन भी मौजूद थे. यह मामला पीरटांड़ का है

बता दें 6 अक्टूबर को बराकर नदी के किनारे एक महिला की लाश मिली थी. पुलिस ने शव को कब्जे में कर जब इस मामले जांच शुरू की तो मृतका की पहचान पचंबा के परसाटांड़ के रहने वाले भूपेश मल्लाह की पत्नी खुशबू देवी के तौर पर हुई. इसके बाद एसडीपीओ मनोज कुमार और इंस्पेक्टर आदिकांत महतो के निर्देश पर थाना प्रभारी पवन सिंह ने जांच शुरू की. इसके बाद परसाटांड़ से दो युवकों से पूछताछ की गई तो शक मृतका के पति भूपेश मल्लाह पर गया. भूपेश से जब पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात कबूल कर ली. भूपेश ने पुलिस को बताया कि पत्नी से हो रहे झगड़ा के कारण वह तनाव में रहता था. 5 अक्टूबर को उसने अपनी पत्नी और बेटी को मायका जाने के लिए बस पर बिठा दिया. बस पर बिठाने के बाद वह बाइक पर सवार होकर पीछे-पीछे आने लगा. भूपेश ने गिरिडीह-डुमरी पथ पर कठवारा के पास बस को रुकवाया और पत्नी तथा बेटी को बाइक पर बैठाकर बराकर नदी के किनारे ले गया. जहां भूपेश ने पत्नी के सामने ही बेटी का गला दबा कर मार डाला. इस घटना के बाद दौनों के बीच झगड़ा होने लगा. इस बार भूपेश ने अपनी पत्नी की भी गला दबाकर हत्या कर लाश को बराकर के जंगल में पेड़ पर फंदे से लटका दिया. बेटी की लाश को नदी के किनारे ही गाड़ दिया. पुलिस को पूछताछ के दौरान भूपेश ने यह बताया कि उसने बेटी की लाश को बराकर नदी के किनारे गाड़ा है. ऐसे में शनिवार की शाम को भूपेश को लेकर पीरटांड़ थाना की पुलिस बराकर नदी के किनारे पहुंची. यहां काफी देर तक छानबीन की गई. मृतका का बैग मिला जिसमें कपड़ा था. पर कई स्थान पर भटकाने के बाद भी भूपेश ने बेटी का शव पुलिस को नहीं मिला. ऐसे में भूपेश को लेकर पुलिस वापस लौट रही थी. तभी डुमरी की तरफ से आ रही ट्रक के सामने भूपेश ने छलांग लगा दी. घटनास्थल पर ही भूपेश की मौत हो गई.

इस मामले पर एसडीपीओ मनोज कुमार ने कहा कि भूपेश ने अपनी पत्नी और बेटी की हत्या करने की बात कबूल कर ली थी. चूंकि, घटनास्थल देखने और बच्ची का शव ढूंढना जरूरी था. ऐसे में पुलिस की टीम भूपेश को लेकर घटनास्थल पर गई थी. भूपेश दिव्यांग था तो उसे हथकड़ी नहीं लगाई गई थी. इस बीच भूपेश खुद ही ट्रक के सामने कूद गया. बाकी मामले की जांच की जा रही है.बहरहाल, अपनी पत्नी और बेटी की हत्या करने के आरोपी युवक ने जान दे दी. लेकिन भूपेश की मौत के साथ यह दोहरा हत्याकांड पूरी तरह से नहीं सुलझ सका. भूपेश की बेटी की लाश भी नहीं मिल सकी. यह भी पूरी तरह से साफ नहीं हो सका कि इस हत्या को सिर्फ भूपेश ने ही अंजाम दिया था या कोई अन्य भी शामिल था.

1 2 3 150
Facebook Comments Box