गिरिडीह से लापता दो भाइयों का कंकाल मिला जमुई में… झारखंड और बिहार पुलिस साधे रही चुप्पी…

Share

गिरीडीह के ति‍सरी से लापता चंदन बर्णवाल और अंशु बर्णवाल का कंकाल बिहार के जमुई के खैरा के मेनवा जंगल से बुधवार को बरामद कर लिया गया। वहीं चंदन के मंझले भाई कुंदन बर्णवाल ने कपड़ा, मास्क और गाड़ी से दोनों भाइयों की पहचान की। जमुई के डीएसपी राकेश कुमार ने फोरेंसिक टीम द्वारा कंकाल का डीएनए टेस्ट करवाने की बात कही है। अपराधियों ने दोनों भाइयों के शरीर के कई टुकड़े कर दिए थे।

बताया जा रहा है कि तिसरी के पंदनाटांड़ के रहने वाले मुरारी लाल बर्णवाल के बड़े पुत्र चंदन बर्णवाल और छोटे पुत्र अंशु बर्णवाल कई वर्षों से सोनो के प्रभाकर मंडल नामक बाबा के चक्कर में पड़े थे। उक्त बाबा ने दोनों भाइयों से पैसा डबल करने का झांसा देकर लाखों रुपये की ठगी की थी। चंदन और अंशु 22 जून को बाबा से पैसा लेने के लिए गरही जाने की बात कह कर घर से निकले थे। उसके बाद से दोनों भाई का कुछ भी अता-पता नहीं है। परिवार वालों ने तिसरी थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। बाद में बिहार के जमुई जिले के खैरा थाना अंतर्गत गरही डैम के पास गायब चंदन का पर्स मिला था। दोनों भाइयों को बिहार के बादिलडीह पुल पर 22 जून की शाम को अंतिम बार देखा गया था। परिवार ने इसकी सूचना जमुई पुलिस को भी दी थी। तिसरी थाना पुलिस ने इस मामले में संदिग्ध बिहार के जमुई सोनो के पीर बाबा प्रभाकर मंडल को भी दिल्ली से हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की थी। कोई साक्ष्य नहीं मिलने पर उसे छोड़ दिया था। पीड़ित माता, पिता और पत्नी प्रिया देवी ने दोनों भाइयों के तार पैसे के लेनदेन में पीर बाबा से जुड़ने की बात कही थी। दोनों की तलाश को लेकर तिसरी थाना के अलावे गिरिडीह के एसपी व बिहार के जमुई के एसपी को भी आवेदन देकर स्वजनों ने गुहार लगाई थी।

1 2 3 93