नक्सलियों ने 2 घरों पर किया हमला, 3 को पीटा, बुजुर्ग को उठाकर ले गए

Share

गुमला  के चैनपुर प्रखण्ड के कुरुमगढ़ थाना क्षेत्र में नक्सलियों का उत्पात लगातार जारी है. नक्सली संगठन जेजेएमपी  ने चैनपुर प्रखंड कुरुमगढ़ के कुटवां गांव में हमला किया. जेजेएमपी के प्लाटून कमाण्डर सुकरा को मारकर भागे अपने ही साथी उग्रवादी बहुरा मुंडा और गांव के ग्रामीण सुखनाथ लोहरा के घर पर जेजेएमपी ने हमला किया. बहुरा के पिता शनिचरवा मुंडा को उग्रवादी अपने साथ उठाकर ले गये. शनिचरवा का सुराग नहीं मिल रहा है.

बताया जा रहा है कि जेजेएमपी नक्सलियों ने ग्रामीण सुखनाथ लोहरा के पिता सावना लोहरा और मां पुतली देवी के साथ भी मारपीट की है. जेजेएमपी के हमला की सूचना परिजनों ने कुरूमगढ़ थाना की पुलिस को दी है. बता दें, बहुरा मुंडा कुछ वर्षों पूर्व भाकपा माओवादी का सक्रिय सदस्य हुआ करता था लेकिन बाद में संगठन से बगावत करके जेजेएमपी में शामिल हो गया था. जेजेएमपी के नक्सलियों ने बहुरा मुंडा के सात एकड़ खेत पर तैयार धान को काटने पर भी रोक लगा दी है. इधर शनिचरवा मुंडा की पत्नी पुसो देवी ने बताया कि दर्जनों की संख्या में हथियारबंद जेजेएमपी के उग्रवादी उसके घर रात 11 बजे आये थे. वे लोग मेरे बेटे बहुरा मुंडा को खोज रहे थे. परंतु मेरा बेटा सात सालों से घर नहीं आया है. जेजेएमपी के उग्रवादी मेरे घर घुसे और मुझे, मेरे पति शनिचरवा मुंडा, मंझली बहू संगीता देवी सहित चार छोटे-छोटे बच्चों को अपने कब्जे में ले लिया. घर के छत पर चढ़कर पूरा छप्पड़ तोड़ दिया. सात एकड़ खेत में तैयार धान की फसल को काटने पर रोक लगा दिया है और धान नही काटने की बात कही है. पुसो देवी ने बताया कि उग्रवादी जाते समय किसी सुशील का घर का पता बताने को कहकर मेरे पति शनिचरवा मुंडा को अपने साथ ले गये. साथ ही आठ मुर्गी भी ले गये. हमलोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी है. इस संबंध में गुमला एसपी डॉक्टर एहतेशाम वकारीब ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली है कि जयंती के नक्सलियों ने बहुरा मुंडा का घर को ध्वस्त करने के बाद उसके पिता को अपने साथ ले गए हैं. पुलिस के पास उसके मां वह भाई के द्वारा शिकायत की गई है. पुलिस इस मामले को जांच करते हुए आगे की कार्रवाई कर रही है, जल्द ही शनिचरा मुंडा को बरामद कर लिया जाएगा. इसके साथ ही पुलिस नक्सलियों के विरुद्ध लगातार सूचना संकलन कर छापेमारी अभियान चला रही है, पुलिस शनिचारवा मुंडा को बचा लेगी. नक्सलियों के द्वारा लगातार इन इलाकों में उत्पात मचाया जा रहा है जिससे कि यहां के रहने वाले ग्रामीण भय के साए में जीने को विवश हैं.

1 2 3 179
Facebook Comments Box