अम्बेडकर जयंती पर ड्रेंड हो रह है #मूर्ख_दिवस… क्या देश के विकास में बाधा है आरक्षण?

Share

14 अप्रैल को भारतीय संविधान के सजन डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती है। बराबरी की वकालत करने वाले भीमराव अंबेडकर को देशभर में याद किया जा रहा है। लेकिन सोशल मीडिया पर अंबेडकर जंयती के ही दिन आरक्षण का जबरदस्त विरोध हो रहा है। सोशल मीडिया ट्वीटर पर लोग #मूर्ख_दिवस के जरिए अपनी बात रख रहे हैं।

  1.  ट्वीटर पर एक यूजर ने लिखा है कि – प्रतिभा को प्रोत्साहित मिलना चाहिए। इसे हमेशा आगे रखा जाना चाहिए। अगर इसकी अनदेखी की गई तो भविष्य खतरे में होगा।

2. न भूतो न भविष्यति! नाम के एक ट्वीटर यूजर ने लिखा – आरक्षण केंसर का कारक है

Image

3. एक यूजर ने लिखा मैं #मूर्ख दिवस का समर्थन करता हूं क्योंकि जातिगत आरक्षण एक काला दिन है। इसका जोरदार विरोध होना चाहिए

Image

4. एक यूजर ने #मूर्ख_दिवस ट्वीट करते हुए लिखा कि निजीकरण का एक फायदा है कि इसमें कोई आरक्षण नहीं होगा।

5. एक और यूजर ने लिखा ओबीसी और जनरल कटेगरी के छात्र परीक्षा में 100% नंबर लाते हैं और सोचते हैं कि उन्हें सरकारी नौकरी मिल ही जाएगी। लेकिन रुक और सबर करो। कोई बराबरी नहीं है।

Image

6. एक यूजर ने लिखा- ये हमारे लिए निराशाजनक है। #मूर्ख_दिवस

Image

7. एक यूजर ने लिखा – जाति आधारित भेदभाव ने जीवन भर के लिए योग्य उम्मीदवारों का मौका छीन लिया है। विद्वान कहते हैं कि अगर देश का विकास देखना चाहते हो तो युवा प्रतिभा को मौका मिलना चाहिए। लेकिन प्रतिभा की जगह वो उम्मीदवार जगह ले लेंगे तो देश का विकास कैसे होगा?

8. एक यूजर ने लिखा – SC/ST क्रीमी लेयर सारे फायदे ले रहे हैं, ये शर्मनाक है। और जो #जयभीम कह रहे हैं उन्हें #मूर्ख_दिवस मनाना चाहिए। आरक्षण आर्थिक और सामाजिक स्थिति के आधर पर होना चाहिए।

9. एक यूजर ने लिखा- आरक्षण के नाम पर प्रतिभावान उम्मीदवारों के साथ सबसे बड़ा घोटाला हुआ

10. एक यूजर ने लिखा आज मूर्ख दिवस है सबको बताना पड़ेगा

Image

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction