हजारीबाग में अवैध मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा… बड़ी संख्या में हथियार बरामद… 7 गिरफ्तार

Share

बिहार एसटीएफ की टीम ने हजारीबाग में मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा किया है. विष्णुगढ़ थाना क्षेत्र के सात माइल मोड के पास स्थित घर में चल रहे अवैध मिनी गन फैक्ट्री से एसटीएफ की टीम ने हथियार के अवैध धंधे में शमिल सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है. असगर मियां के घर पर छापेमारी की गई. यहां से 1 लेथ मशीन ,1 ड्रिल मशीन,1 जनरेटर, 2 मिलिंग मशीन, 52 सेमी फिनिश्ड पिस्टल, 39 सेमी फिनिश्ड पिस्टल बट, 2 मोटरसाइकिल बरामद किये हैं.

अवैध हथियारों का निर्माण बिहार के मुंगेर तक ही सीमित नहीं रहा है. झारखंड में भी अब अवैध हथियारों का निर्माण होने लगा है.कई जिलों में अवैध हथियार निर्माण करने वाली मिनी गन फैक्ट्रियों का उद्भेदन पुलिस ने किया है. जहां से बड़ी संख्या में अवैध हथियार बरामद हुए हैं. आर्म्स सप्लायर अब मुंगेर से हथियार लाकर उसकी तस्करी नहीं कर रहे हैं, बल्कि यहीं असेंबल कर हथियार को तैयार कर ले रहे हैं. इसके लिए राज्य के अलग-अलग जिलों में छोटे-छोटे कमरों में हथियार की फैक्ट्रियां चल रही हैं. मिनी गन फैक्ट्री चलाने के लिए किसी बड़े प्लांट की जरूरत नहीं है, बल्कि एक लेथ मशीन लगाकर आर्म्स सप्लायर कट्टा की बैरल, पिस्टल की बैरल और स्प्रिंग तैयार कर ले रहे हैं. इसके अलावा जो इंटरनल और कीमती पार्ट हैं, उन्हें अलग से मुंगेर और उत्तर प्रदेश से मंगवाया जा रहा है. अलग पार्ट्स लाकर असेंबल कर लेना आर्म्स तस्करों के लिए आसान खेल बन गया है. आर्म्स सप्लायर अब खुद ट्रेंड होकर देसी पिस्टल, देसी कट्टा, सिक्सर और कार्बाइन जैसे हथियार तस्कर तैयार कर ले रहे हैं.

1 2 3 160
Facebook Comments Box