हेमंत सरकार ने मैट्रिक-इंटरमीडिएट प्रैक्टिकल परीक्षा लेने का दिया आदेश…

Share

झारखंड सरकार की ओर से मैट्रिक इंटरमीडिएट प्रैक्टिकल परीक्षा को लेकर हरी झंडी मिल गई है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने स्कूली शिक्षा साक्षरता विभाग  के प्रस्ताव को अपनी सहमति दे दी है। बता दें कोरोना महामारी को देखते हुए साल 2021 में आयोजित होने वाले कई प्रदेशों के बोर्ड परीक्षाओं के साथ-साथ झारखंड इंटर एकेडमिक काउंसिल बोर्ड की परीक्षाएं भी रद्द हो चुकी हैं। मैट्रिक और इंटरमीडिएट के रिजल्ट प्रकाशन को लेकर तैयारियां की जा रही है।

बता दें इस बार मैट्रिक और इंटरमीडिएट मिलाकर सात लाख से ज्यादा परीक्षार्थी परीक्षा देने वाले थे, लेकिन कोरोना वायरस को लेकर सुरक्षात्मक कदम उठाते हुए इनकी परीक्षा रद्द की गई और उसके बाद रिजल्ट तैयार किया जा रहा है। 9वीं और 11वीं बोर्ड के अंकों के आधार पर कई पहलुओं को स्पष्ट करते हुए रिजल्ट का प्रकाशन किया जाएगा। हालांकि प्रैक्टिकल परीक्षाएं अनिवार्य है. इसी के मद्देनजर स्कूली शिक्षा साक्षरता विभाग ने आपदा प्रबंधन विभाग से अनुमति मांगी थी और फिर एक प्रस्ताव तैयार किया गया था। उसी प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने अपनी सहमति दी है। साथ ही झारखंड एकेडमिक काउंसिल को तिथि निर्धारित करने का निर्देश दिया है। कोरोना गाइडलाइन का हो पालनप्रैक्टिकल परीक्षा आयोजन को लेकर कोरोना गाइडलाइन का पालन करना जरूरी है। इसे सुनिश्चित करने का निर्देश भी जारी किया गया है।

1 2 3 93