रांची से आयी कोरोना की डरावनी तस्वीर … स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के सामने से निकली लाश… परिवार ने लगाया बड़ा आरोप …

Share

कोरोना के सामने झारखंड की स्वास्थ्य व्यवस्था दम तोड़ रही है। इसका सबूत मंगलवार को सदर अस्पताल में देखने को मिला। हजारीबाग से आये कोरोना संक्रमित पवन गुप्ता की अस्पताल के बाहर स्ट्रेचर पर ही मौत हो गयी। वहीं परिवार वाले बेड के लिए दौड़ते रह गये। यह घटना उस वक्त कि है जब   स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता सदर अस्पताल में ही मौजूद थे और वे अस्पताल का निरीक्षण कर रहे थे।

अस्पताल से शव को बाहर निकालते वक्त परिवार वोलों की नजर स्वास्थ्य मंत्री पर पड़ी। परिजन मंत्री को शोर मचाते हुए कहने लगे कि आपको सिर्फ वोट लेने से मतलब है, जनता की जान की परवाह नहीं है। वे सदर अस्पताल की खराब व्यवस्था को लेकर भी काफी गुस्से में थे. आप को बता दें कि रांची के अस्पतालों से लगातार मिल रही शिकायतों का जायजा लेने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता खुद ही कोविड अस्पताल पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने पीपीइ किट पहनकर अस्पताल का औचक निरीक्षण शुरू कर दिया। उसी दौरान पवन गुप्ता का बेहतर इलाज कराने के लिए रांची के अस्पतालों का चक्कर काटने के बाद सदर अस्पताल पहुंचे थे।  

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने सिविल सर्जन को हजारीबाग के मरीज की मृत्यु   जांच का आदेश दिया है और साथ ही 48 घंटे में जांच रिपोर्ट सिविल सर्जन से मांगी है। मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि कोरोना काल में हमें जनता की सेहत की चिंता है। मुझे पिछली बार कोरोना हुआ था, लेकिन इसकी परवाह किये बिना आज मैं मरीजों से मिलने कोरोना वार्ड गया। उनसे मिला। भले ही मुझे फिर से कोरोना हो जाये, लेकिन मुझे इसकी परवाह नहीं, मुझे जनता के जान-माल की चिंता है, तभी चुनाव छोड़कर जनता की सेवा के लिए आया हूं।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction