कोडरमा में सूदखोरों ने दलित परिवार से हड़पे 45 लाख रु

Share

झारखंड के कोडरमा में सूदखोरों ने एक दलित परिवार के 45 लाख रु डकार लिए। अब अपना पैसा वापस पाने के लिए परिवार दर ब दर भटक रहा है। आपको बता दें कि कलरास छाताबाद  लाल दौड़ा के रहने वाले कारा भुईया धनबाद बीसीसीएल एरिया चार के रामकनाली कोलियरी में काम करते थे। उन्होंने अपनी बड़ी बेटी की शादी के लिए निरंजन साव से 3 लाख रु कर्ज़ लिए थे। जिसके बदले में उसने कारा भुईया से उसकी बैंक पासबुक, एटीएम,चेक बुक अपने पास रख लिया। अब कारा भुईया के रिटायरमेंट के बाद निरंजन साव और दीपक वर्मा ने अपने साथी बिट्टू सिन्हा, मनोज हारी,प्रिंस चौधरी की मदद से उसके बैंक खाते से पीएफ के लगभग 22 लाख व 20 की ग्रैच्युटी को धोखे से निकाल लिया। ऊपर से पेंशन के पैसे से भी उन लोगों ने ढाई लाख रु का लोन करवा कर उसे भी सूदखोरों ने अपने खाते में ट्रांसफर करा लिया। अब जब कारा भुईया उन लोगो से अपने पैसे वापस मांग रहा है तो उन लोगों ने उसकी पिटाई कर उसे गाली गलौज भी दी। जिसके बाद भुक्तभोगी ने धनबाद के मटकुरिया के रहने वाले निरंजन राव साव और तेतुलमारी के रहने वाले दीपक वर्मा पर पैसा हड़प लेने की शिकायत कतरास पुलिस से की,लेकिन तीन महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस दोषियों पर कोई कार्रवाई नही कर सकी है। उधर सूदखोरों की तरफ से कारा भुईया के परिवार को धमकी पर धमकी मिल रही है। जिससे वह गॉव छोड़ने पर मजबूर हो गया है।