वोकेशनल की परीक्षा में 100 छात्रों को 0 नंबर… सभी हुए फेल…

Share

इंटर के वोकेशनल कोर्स करने वाले करीब 100 परीक्षार्थियों को झारखंड एकेडमिक काउंसिल के द्वारा जिरो अंक दे दिया गया है। जिसके वजह से सभी फेल हो गये। इस विभागीय गलती का खामियाजा परीक्षार्थियों को भुगतना पड़ रहा है। जहां फेल हुए विद्यार्थी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं वहीं स्कूल के प्रिंसिपल लगातार विभाग से बात कर रहे हैं। जमशेदपुर के 11 स्कूलों में यह गड़बड़ी मिली है।

बता दें वोकेशनल कोर्स में प्रैक्टिकल की परीक्षा के मूल्यांकन के लिए भारत सरकार द्वारा ही एजेंसी तय की जाती है। यह एजेंसी परीक्षार्थियों को नंबर देती है। वे सीधे जैक या फिर जेइपीसी को सील बंद लिफाफे में अंक सौंप देते हैं। लेकिन कोविड 19 की वजह से वोकेशनल कोर्स का थर्ड पार्टी मूल्यांकन करने वाली दिल्ली की एजेंसी पूर्वी सिंहभूम नहीं आयी। जिससे जिला शिक्षा विभाग की ओर से परीक्षार्थियों को प्रैक्टिकल में जिरो नंबर दे दिया गया। इस बारे में झारखंड एकेडमिक काउंसिल के सचिव महीप सिंह ने कहा कि ऐसी बात नहीं है कि दिल्ली से एजेंसी के प्रतिनिधि प्रैक्टिकल परीक्षा लेने के लिए नहीं आये। कई जिले में उन्होंने विधिवत अंक लिया है। पूर्वी सिंहभूम जिले में कोविड के कारण नहीं जा सके। जिससे विद्यार्थियों के प्रैक्टिकल का अंक जैक को नहीं मिल पाया। इस मामले पर जैक विचार कर रहा है। परीक्षार्थियों के हितों को देखते हुए जल्द ही कोई रास्ता निकाला जायेगा। जैक सचिव महीप सिंह ने बताया कि फेल विद्यार्थी अगर कंपार्टमेंटल की परीक्षा में शामिल होते हैं तो पास करने के बाद उन्हें जो मार्क्सशीट या सर्टिफिकेट मिलेगा, उसमें कंपार्टमेंटल शब्द का उल्लेख नहीं होगा।

1 2 3 116
Facebook Comments Box