जमशेदपुर पहुंचा ब्लैक फंगस… मरीज मिलने से प्रशासन अलर्ट

Share

कोरोना संकट के साथ अब ब्लैक फंगस का खतरा लोगों पर मंडराने लगा है। जमशेदपुर में भी ब्लैक फंगस जैसी घातक बीमारी ने अब दस्तक दे दी है। टाटा मेन हास्पिटल (टीएमएच) में ब्लैक फंगस का एक मरीज मिला है। टाटा स्टील के मेडिकल सर्विसेज के सलाहकार डॉ. राजन चौधरी ने शुक्रवार को टेली कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा यह जानकारी दी। इसकी जानकारी देते हुए कहा कि ब्लैक फंगस (ल्यूकर मायकोसिस) कोई नई बीमारी नहीं है। यह बीमारी उनलोगों में होने की आशंका रहती है जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। साथ ही, उन्हें भी जिन्हें उच्च स्तर पर स्टेरॉयड की डोज दी जा रही है। कैंसर, मधुमेह और दिल के मरीजों को ब्लैक फंगस होने का खतरा रहता है।

डॉ. राजन ने बताया कि कोरोना संक्रमण लगातार कम हो रहा है। पिछले सप्ताह पॉजिटिविटी रेट 48 प्रतिशत थी जो घटकर इस सप्ताह 32.17 प्रतिशत पर आ गई है। मौतों की संख्या भी कम हुई है। यह संक्रमण में गिरावट के शुरुआती संकेत हैं। कहा कि अगर यही रुझान अगले सप्ताह तक जारी रहें तब हम पुख्ता रूप से कह सकेंगे कि संक्रमण में गिरावट हो रहा है। उन्होंने इंडियन म्यूटेंट के बारे में कहा कि यह पहले स्ट्रेन से ज्यादा खतरनाक है। नये म्यूटेंट को लेकर टीएमएच से भी भुवनेश्वर के रीजनल जीनोम सीक्वेंसिंग लैब को नमूना भेजा गया था। लेकिन, जिला प्रशासन ने उसकी रिपोर्ट साझा नहीं की है।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction