जमशेदपुर में अजीबोगरीब मामला: बेटे की शादी न रुके तो पति ने बहा दिया पत्नी का शव …

Share

जमशेदपुर के कपाली थाना क्षेत्र के दोमुहानी बस्ती में अजीबो-गरीब मामला सामने आया जिससे हर कोई परेशान है। दरअसल कपाली के दोमुहानी सुवर्णरेखा नदी से 60 वर्षीय महिला का शव गुरुवार को बरामद किया गया था। शव कपाली के रहने वाले गामा सिंह की पत्नी डोमना सिंह की थी। जब पुलिस ने गामा सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ करना शुरू किया तो उसने तुरंत ही सच उगल दिया। जिसे सुन पुलिस भी हतप्रभ रह गई।

गामा ने बताया कि उसकी पत्नी काफी दिनों से बीमार थी। पत्नी ने गुरुवार को अंतिम सांस ली। पत्नी के शव को खाट में बांधकर नदीं में बहा दिया। गामा के बेटे का तिलक आठ मई को था। सात मई की रात को पत्नी की मौत हो गई। बेटे की शादी में कोई रुकावट नहीं हो इसलिए उसने खाट समेत पत्नी के शव को नदी में बेटों की मदद से बहा दिया। खाट में पत्थर भी बांध दिया ताकि शव उफन कर बाहर नहीं आ जाए। अगर शव का अंतिम संस्कार करता तो शादी रोकनी पड़ती। 12 मई को बेटे का विवाह हो गया। विवाह के बाद शव को सामाजिक रीति-रिवाज अनुसार दफना देता। उससे यही गलती हुई कि उसने शव को नहीं दफनाया। इस बीच मृतका का भाई अनिल उर्फ नरायण तांती सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर के रोला से शादी की पार्टी में शामिल होने को पहुंचा। उसे जानकारी हुई कि बहन की मौत हो गई है। उसने अपने जीजा गामा सिंह से पूछा कि शव कहां दफनाया तो बताया कि शव को नदी में फेंक दिया। उसने बहन की संदेहास्पद मौत बताते हुए थाना में जीजा और भांजों के खिलाफ शिकायत दी। वहीं पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। इसके बाद शव स्वजनों को सौपं दिया गया। शिकायत देने वाले ने मामले की सत्यता सामने आने पर पूर्व की दी गई शिकायत को वापस ले लिया।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction