जमशेदपुर में पति ने हैवानियत की हदें पार… बंधक बना बेटी पर भी डाली बुरी नजर… पुलिस ने किया गिरफ्तार…

Share

जमशेदपुर के मानगो के आजादनगर में एक पति ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। इसने अपने ही परिवार पर अमानवीय अत्याचार किया। पहले तो पत्नी को डरा-धमकाकर अप्राकृतिक संबंध बनाया, फिर बेटी पर भी बुरी नजर डाल दी। जब पत्नी और बेटियों ने विरोध किया तो उसने सबको 15 दिन तक एक कमरे में बंद कर दिया। पत्नी ने किसी तरह आजादनगर थाने में शिकायत की। उसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया। पति के खिलाफ पोक्सो एक्ट, दहेज के लिए प्रताड़ित करने और अप्राकृतिक यौनाचर के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पीड़िता ने बताया कि उसने अपने पति से 21 सितंबर 2013 को प्रेम विवाह रजिस्ट्री ऑफिस में किया था। विवाह मुस्लिम रीति रिवाज हुई थी। पति और ससुराल वाले उसे हमेशा शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगे। उसे सामाजिक रूप से स्वीकार नहीं करते थे। अक्सर पति मारपीट किया करता था। कई बार पेट पर लात मारा जिससे गर्भपात हो गया था। कई बार तेज हथियार से हमला कर उसे जख्मी भी कर दिया था। पति हमेशा एक दूसरी महिला से फोन पर बातचीत करता था, जिससे उसका अवैध संबंध है। पत्नी ने बताया कि विरोध करने पर धमकी देते है कि महिला से शादी कर उसे घर पर लाएंगे। घर में बिना कपड़े के घूमते थे। पुत्री को भी बिना कपड़े में कर उसे साथ सुलाते थे। गलत हरकत करते थे। पत्नी ने बताया इसका वीडियो और फोटोग्राफ भी उसके पास है। विरोध करने पर उसके साथ मारपीट की। उसका पति दोनों बेटियों को पिछले 15 दिनों से घर में बंधक बनाए हुए थे। उनका मोबाइल भी छीन लिया था। किसी तरह पड़ोसी के माध्यम से उसने अपनी मां को बुलवाने का आग्रह किया, लेकिन जब मां आयी तो पति ने मिलने नहीं दिया। इसके बाद मां ने स्थानीय लोगों से मदद मांगी और फिर आजादनगर थाना के सहयोग से महिला और दोनों बेटियों को मुक्त कराया गया। बता दें पीड़िता ने 2014 में भी पति के खिलाफ प्रताड़ना का मामला आजादनगर थाने में दर्ज कराई थी। बाद में पारिवारिक दबाव और मध्यस्थता सेंटर में 2018 में पति से समझौता कर लिया। पति आजादनगर के ओल्ड पुरुलिया रोड में माता-पिता से अलग होकर बच्चों के साथ किराए के मकान में रहने लगे, लेकिन वहां भी पति उसे प्रताड़ित करते रहे।

1 2 3 93