आंगन में पड़ा रहा 10 घंटे तक बेटे का शव… तब मां-बाप मांग रहे थे लैपटॉप, फ्रिज और वॉशिंग मशीन

Share

कोडरमा के तिलैया थाना क्षेत्र के गांधी स्कूल रोड स्थित पटेल नगर में एक दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है. युवक विकास कुमार (30) पिता सुरेश विश्वकर्मा की मौत रविवार की देर रात करीब 11:00 बजे हो गई थी. विकास ने जहरीला पदार्थ खा लिया था. कोडरमा सदर अस्‍पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी. इसके बाद सोमवार सुबह करीब 12 बजे पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस ने शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया था. मृतक के माता-पिता और चाचा-चाची के बीच विवाद होने के कारण शव तकरीबन 10 घंटे तक घर के आंगन में पड़ा रहा.

विवाद की सूचना पर तिलैया थाना के एसआई ऋषिकेश सिन्हा और आनंद कुमार दलबल के साथ मृतक के घर पहुंचे. वहां बताया गया कि मृतक करीब 18 वर्षों से अपने माता-पिता से अलग चाचा-चाची के साथ रह रहा था. रविवार की शाम जब घर में कोई नहीं था, तब विकास ने जहर खा लिया. चाचा-चाची के घर आने पर उसने बताया कि उसने जहर खाया है. इसके बाद चाचा-चाची ने उसे तुरंत सदर अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान रविवार देर रात करीब 11:00 बजे उसकी मौत हो गई. पोस्टमॉर्टम के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए चाचा-चाची के घर लाया गया, जहां मृतक के माता-पिता अंतिम संस्कार से पहले बेटे द्वारा खरीदे गए लैपटॉप, मोबाइल, आलमारी, फ्रिज और वाशिंग मशीन की मांग चाचा-चाची से करने लगे. उन्‍होंने कहा कि सामान मिलने के बाद ही शव का अंतिम संस्‍कार किया जाएगा. सामान के बंटवारे को लेकर दिन भर दोनों परिवारों के बीच विवाद चलता रहा. इसके बाद रात करीब 9:00 बजे मृतक की चाची सुनीता देवी ने तिलैया पुलिस को फोन कर विवाद की जानकारी देते हुए मृतक के शव का अंतिम संस्कार कराने में सहयोग की मांग की. इसके बाद पुलिस पदाधिकारी दलबल के साथ मृतक के घर पहुंचे और दोनों परिवारों को समझा-बुझाकर उन्‍हें अंतिम संस्कार के लिए राजी किया.

1 2 3 179
Facebook Comments Box