झारखंड में बाइक से सब्जी लाने के लिए भी जरूरी है ई-पास… जानें नये नियम और आवेदन की प्रकिया…

Share

झारखंड में16 मई से राज्य में सभी निजी वाहन और टैक्सी के लिए ई-पास अनिवार्य होगा। निजी वाहनों से एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए भी आम जनों को ई-पास की जरूरत होगी। अब ई-पास लेकर घर से बाहर निकलना होगा, नहीं तो पैनडैमिक एक्ट के तहत कार्रवाई भी की जाएगी। परिवहन विभाग की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक पास लेने के लिए आपको वास्तविक कारणों को बताते हुए ऐप में इंट्री करनी होगी। उसके बाद ही पास निर्धारित समय के लिए मिलेगी। नये नियम के तहत आप अगर घर से बाजार के लिए भी अपने वाहन से निकलेंगे तब भी आपको ई-पास लेना जरूरी होगा। ऐसे में भलाई है कि आप वाहन से मूवमेंट नहीं कर घर के समीप स्थित दुकानों व सब्जी बाजार से ही पैदल जाकर खरीदारी करें।

ई-पास बनाने के लिए सबसे पहले epassjharkhand.nic.in पर लॉग इन करके अपने मोबाइल नंबर को रजिस्टर्ड कराना होगा। रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर पासवर्ड जेनरेट करनी होगी। इसमें पसर्नल जानकारी और डॉक्यूमेंट जमा करने के ऑप्शन में आपको पूरी जानकारी देनी होगी। इसके बाद आपको ई-पास को डाउनलोड कर यात्रा के पहले पास रखना होगा़ साथ में एक और फोटो पहचान पत्र वाला वैद्य प्रमाण पत्र भी जरूरी है़ फिर आप यात्रा कर सकते हैं। चेकिंग के दौरान ई-पास व अपना प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य होगा़। बता दें परिवहन विभाग ने रेल और हवाई यात्रा कर झारखंड आनेवाले यात्रियों को ई-पास से राहत देते हुए उनके टिकट और पहचान पत्र को मान्यता देते हुए घर तक पहुंचने की अनुमति दी है। इधर ई-पास को प्रभावी बनाने के लिए परिवहन विभाग और जिला प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी है। वगैर ई-पास के घर से निकलने वाले वाहन चालकों को पैनडैमिक एक्ट के तहत कारवाई भी की जाएगी।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction