मरीजों को क्लीनिक में बंद कर भागा ‘झोलाछाप’…गिरफ्तारी के बाद हुआ बड़ा खुलासा

Share

लोहरदगा के कुडू थाना क्षेत्र के बारीडीह गांव में अवैध रूप से संचालित एक नर्सिंग होम का सोमवार को खुलासा हुआ। जब पुलिस-प्रशासन की टीम बारीडीह गांव पहुंची तो झोलाछाप डॉक्टर मंसूर अंसारी क्लीनिक बंद कर भागने लगा। क्लीनिक के अंदर उस वक्त चार मरीजों का इलाज चल रहा था। हालांकि छापेमारी टीम ने उसका पीछा कर उसे पकड़ लिया। इस पूछताछ के दौरान मंसूर अंसारी को एक दवा का नाम पढ़ने के लिए बोला गया तो उसके पसीने छूट गए। इसके बाद मंसूर ने बताया कि वो मैट्रिक फेल है। पर यहां पिछले एक साल से अवैध रूप से क्लीनिक चला रहा था।

जब छापेमारी टीम क्लीनिक का ताला तोड़ अंदर गई तो तीन महिला और दो पुरुष का बेड पर इलाज किया जा रहा था। इतना ही नहीं इनमें से एक को ऑक्सीजन भी चढ़ाया जा रहा था। इसके बाद छापेमारी टीम  ने एंबुलेंस की मदद से सभी मरीजों को तुरंत सदर अस्पताल भेजा। क्लीनिक में काफी मात्रा में दवा बरामद की गई। साथ ही दो ऑक्सीजन सिलेंडर, छह बेड जब्त किए गए हैं। साथ ही उपयोग किए गए सैकड़ों इंजेक्शन सीरिज बरामद हुए। टीम ने क्लीनिक को सील कर दिया है।

1 2 3 74

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction