बगरू मुठभेड़ कांड: सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ मामले की सीआईडी जांच शुरू

Share

लोहरदगा के बगरू में हुए सुरक्षाबलों और उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के बीच हुई मुठभेड़ मामले की जांच अब सीआईडी करेगी। बता दें यह मुठभेड़ 18 जुलाई 2019 को हुई थी जिसे अब सीआईडी ने टेकओवर कर लिया है। और लोहरदगा पुलिस से उग्रवादियों का पोस्टमार्टम रिपोर्ट, हथियार के बैलिस्टिक रिपोर्ट की मांग की है।

 

 सीआईडी के एडीजी अनिल पालटा के आदेश पर मुठभेड़ केस की जांच के लिए सीआईडी डीएसपी के नेतृत्व में टीम गठित की गई है। संजय कुमार सिंह केस के मुख्य जांच पदाधिकारी होंगे, जबकि इंस्पेक्टर रविकांत प्रसाद केस में सहयोगी अनुसंधान पदाधिकारी होंगे। लोहरदगा में 18 जुलाई 2019 को झारखंड के प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति मोर्चा पार्टी के उग्रवादियों के मूवमेंट की सूचना लोहरदगा पुलिस को मिली थी, जिसके बाद लोहरदगा पुलिस ने लातेहार पुलिस और सीआरपीएफ के साथ मिलकर अभियान चलाया। अभियान के दौरान सैदाटोली में जेजेएमपी उग्रवादियों के साथ पुलिस की मुठभेड़ हो गई थी, जिसमें जेजेएमपी के तीन उग्रवादी मारे गए थे। वहीं दो एके 47 हथियार भी पुलिस ने बरामद किए थे। मुठभेड़ के बाद पुलिस को जानकारी मिली थी की मौके पर जेजेएमपी सुप्रीमो पप्पू लोहरा भी मौजूद था, जो मौके से भाग निकला था। केस टेकओवर करने के बाद सीआईडी सभी पहलूओं पर जांच करेगी, उग्रवादियों का पोस्टमार्टम रिपोर्ट, हथियार के बैलिस्टिक रिपोर्ट की मांग लोहरदगा पुलिस से की गई है। सीआईडी ने सारी केस डायरी और कई अन्य कागजात हासिल कर लिए हैं।

1 2 3 74

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction