लोहरदगा में नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम… बम डिफ्यूज

Share

लोहरदगा में नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम कर दी गई। जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर पेशरार के में दुग्गू गांव के कादो झरिया टोली में नक्सलियों द्वारा बिछाए गए दो शक्तिशाली केन बम को सीआरपीएफ और सिविल पुलिस ने ढूंढ निकाला। बता दें जंगल में बैल चरा रहे एक बुजुर्ग की मौत बम विस्फोट होने के कारण हो गई थी। पांच-पांच किलो के केन बम को सीआरपीएफ के बम निरोधक दस्ते ने डिफ्यूज कर दिया।

बताया जा रहा है कि यह घटना अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र में के चैनपुर पुलिस पिकेट से करीब एक किलोमीटर पहले कादो झारिया नामक स्थान पर पेशरार-केरार मुख्य पथ में प्लांट किया गया था। इस गांव में करीब 15 घर हैं। यहां की आबादी करीब 100 से अधिक है। दो केन बमों में एक मुख्य पथ पर और दूसरा वहां करीब 150 फीट दूर सड़क से तकरीबन 15 फीट अंदर ग्रामीणों के पैदल रास्ते में प्लांट किया गया था। चैनपुर पुलिस में तैनात जवानों को राशन आदि पहुंचाने के लिए जब एरिया में सर्च अभियान चलाया गया। मशीन ने लैंडमाइन को सर्च कर लिया। सर्च अभियान में सीआरपीएफ लोहरदगा मुख्यालय 158 बीएन के कमांडर टू/आईसी आरवी फिलीफ, लोहरदगा के डीएसपी मुख्यालय परमेश्वर प्रसाद, सीआरपीएफ के जवान और सिविल पुलिस शामिल थे।

1 2 3 116
Facebook Comments Box