चाईबासा में मां ने मोबाइल गेम खेलने से रोका तो मैट्रिक के छात्र ने लगाई फांसी

Share

मोबाइल फोन की लत कितनी खतरनाक साबित हो सकती है, इसकी बानगी चाईबासा के नोवामुंडी में दिखी। डांगुवापोसी गांव के रहने वाले शंकर पूर्ति ने मां के मोबाइल फोन में गेम खेलने से मनाकरने पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 15 साल का शंकर पूर्ति डांगुवापोसी स्कूल में मैट्रिक का छात्र थे। मां ने 10वीं बोर्ड की परीक्षा को देखते हुए मोबाइल फोन छोड़कर पढ़ाई करने को कहा था। इससे नाराज छात्र ने मंगलवार रात खुद को अपने कमरे में फंदे से लटका लिया। सुबह कमरे से उसका शव बरामद हुआ।

शंकर मोबाइलल पर फ्री फायर गेम खेलने को शौकीन था। वो ज्यादातार वक्त मोबाइल पर गेम ही खेलता रहता था। मंगलवार की शाम भी शंकर की मां ने उसे मोबाइल पर गेम खेलने से रोका था। इसके बाद वो फोन फेकर अपने कमरे में चला गया। रात को खाना खाकर सब सो गए। सुबह जब मां उसे उठाने उसके कमरे तक पहुंची तो दरवाजा बंद था। कई बार दरवाजा खटखटाने के बाद भी दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद दरवाजा तोड़ा गया। दरवाजा तोड़ने पर उसका शव फंदे से लटका मिला। पूरे मामले की जानकारी पुलिस को देने के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाया गया।