झारखंड-बिहार के नक्सलियों को हथियार पहुंचाने वाला NIA के गिरफ्त में… जांच शुरू

Share

बिहार और झारखंड के नक्सलियों को हार्डकोर नक्सली परशुराम सिंह हथियार सप्लाई करता था। इसकी जांच एनआईए ने शुरू कर दी है। एनआईए ब्रांच दिल्ली मामले को टेकओवर करते हुए कांड संख्या आरसी 11/2021 दर्ज किया है। एनआईए ब्रांच दिल्ली ने एनआईए ब्रांच रांची को जांच की जिम्मेवारी दी है। एनआईए ब्रांच रांची के डीएसपी सुबोध शर्मा के नेतृत्व में मामले की जांच की जाएगी।

बता दें कि 31 मार्च को नक्सलियों के एक बड़े नेटवर्क का खुलासा हुआ था। बिहार एसटीएफ की टीम ने जहानाबाद के बिस्तौल में कार्रवाई करते हुए भाकपा माओवादी के अरविंद सिंह उर्फ देव कुमार सिंह के नेटवर्क से जुड़े परशुराम सिंह समेत नक्सली सप्लायरों को गिरफ्तार किया था। उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और विस्फोट बरामद किए गए थे। माओवादी के पोलित ब्यूरो के सदस्य रहे अरविंद सिंह के नेटवर्क से जुड़े नक्सलियों के ठिकाने से भारी मात्रा में हथियार और विस्फोट बरामद किए जाने के मामले में एनआईए ने आर्म्स एक्ट की धारा 25 (1-B), A, 26, 35.यूएपी की धारा 16,17,18,19,20, 38 और 40. विस्फोटक अधिनियम 4 और 5 और सीएलए एक्ट की धारा 17 के तहत मामला दर्ज किया है। एनआईए ने इस मामले में परशुराम सिंह समेत चार के ऊपर केस दर्ज किया है. इनमें परशुराम सिंह, संजय सिंह, उमेश यादव, गौतम कुमार शामिल हैं। परशुराम के गिरफ्तारी के बाद यह बात सामने आई थी कि इन नक्‍सलियों को बंगाल से निर्मित और अर्द्धनिर्मित हथियार भेजे जाते थे। इन्‍हें पूरी तरह तैयार करके झारखंड और बिहार के जंगलो में नक्सलियों को भेजा जाता था। परशुराम सिंह पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए गांव में साधारण मजदूर की तरह रहता था। पूछताछ में यह बात सामने आई कि वह लंबे समय से झारखंड के जंगलों में हथियारों की सप्लाई करता था।

1 2 3 93